DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एलआेसी पर बंदूक नहीं दागी गईं वालीबॉल

या इसकी कल्पना की जा सकती है कि एलआेसी पर माइनस डिग्री से नीचे के तापमान में दो देशों की फौजों के जवानों के हाथों में बंदूकें नहीं बल्कि वालीबाल की गेंद हो और वे एक दूसरे पर सीमा विवाद को लेकर विरोध की बातें या फिर बंदूकों की गोलियां उगलने के बजाय गेंद को किक मार रहे हों? ऐसे में क्या वे एक ऐसे मैच को खेलने में व्यस्त हों, जिसका परिणाम चाहे किसी की भी जीत में निकले लेकिन स्थिति दोनों पक्षों के लिए ‘विन फार आल-लव आल’ हो? यह नजारा शून्य से कई डिग्री नीचे के तापमान में जम्मू व कश्मीर के लद्दाख सेक्टर के चुशूल सीमा चौकी पर शनिवार को देखने को मिला था। चीन की सीमा से सटी और 17 से 18 हजार फुट की ऊंचाई पर स्थित इस सीमा चौकी के एयरफील्ड में हेलीकॉप्टर के बजाय वालीबाल के खेल के लिए नेट लगाया गया था। यहां चीनी तथा भारतीय फौजी गले मिलने के बाद फ्रेंडली मैच खेल रहे थे। इस मैच में सवाल यह नहीं था कि मैच किसने जीता और हारने वाली टीम के चेहरों पर मैच हारने की कोई शिकन भी नहीं थी और न ही जीतने वाली टीम के नेता व उनकी टीम ने ‘दुश्मन’ पर जीत का कोई जश्न मनाया था। बर्फीली हवाआें और तापमान के शून्य डिग्री से नीचे होने की परिस्थितियां भी दोनों देशों की सेनाआें के बीच हो रहे इस दोस्तीपूर्ण वालीबाल मैच की उत्सुकता को कम नहीं कर पाई थीं। लेकिन इतना जरूर था कि मैच से पूर्व दोनों ही टीमों ने गर्मजोशी से एक दूसरे का स्वागत करते हुए उपहार भेंट किए थे। इस अवसर पर दोनों ही सेनाआें की इस मुलाकात में कहीं सीमा विवाद का जिक्र नहीं आया था और न ही किसी प्रकार की कोई शिकायत या गिला शिकवा। अगर कुछ विचारों का आदान-प्रदान हुआ, तो वह था दोस्ती को बढ़ावा देने तथा सीमा पर होने वाली घटनाआें के प्रति एक दूसरे को समय पर खबरें देने का आग्रह। चीनी सेना के कर्नल रैंक के कई अधिकारी तथा वालीबाल टीम के खिलाड़ी तड़के ही वास्तविक नियंत्रण रेखा को पार कर कर इस आेर आ गए थे और दोपहर बाद खाने के उपरांत उपहारों के साथ वे मैत्रीपूर्ण मैच में एक अच्छे दोस्त और पड़ोसी की छवि को पीछे छोड़ कर चले गए थे। भारतीय सेनाधिकारियों के मुताबिक, ऐसे मैच के पीछे की भावना दोस्ताना संबंधों को और प्रगाढ़ बनाने की है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एलआेसी पर बंदूक नहीं दागी गईं वालीबॉल