DA Image
23 फरवरी, 2020|3:09|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डा. सूरिदेव को जैन साहित्य का ‘अहिंसा अंतरराष्ट्रीय’ अवार्ड

हिन्दी, संस्कृत, पाली और प्राकृत के प्रकांड विद्वान एवं बिहार राष्ट्रभाषा परिषद् के शोध-उपनिदेशक डॉ. श्रीरंजन सूरिदेव को जैन साहित्य का ‘अहिंसा अंतरराष्ट्रीय’ अवार्ड देने की घोषणा की गई है। यह सम्मान उन्हें जैन साहित्य में विशिष्ट योगदान के लिए दिया जाएगा। 24 फरवरी को नई दिल्ली में उन्हें यह सम्मान प्रदान किया जाएगा। गौरतलब है कि इसी माह डॉ. सूरिदेव को जैन साहित्य में लाइफ टाइम योगदान के लिए ‘आचार्य हेमचन्द्र सूरि सम्मान’ प्रदान किया गया है। अनेक ग्रन्थों के लेखक व प्रख्यात भाषाविद् डॉ. सूरिदेव जैनशास्त्र व प्राकृत के राष्ट्रीय स्तर के मर्मज्ञ विद्वानों में शुमार किये जाते हैं। हिन्दी साहित्य और सम्पादन के क्षेत्र में उनके योगदान का ऐतिहासिक महत्व है। अंतरराष्ट्रीय स्तर के शोधग्रन्थ प्राकृत की बृहत्कथा ‘वसुदेवहिण्डी’ पर इनके शोध ने अंतरराष्ट्रीय ख्याति अर्जित की है। सर्वदलीय बैठक में कहलगांव फायिरग का मुद्दा भी उठाएगी कांग्रेसड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। कांग्रेस बिजली किल्लत को लेकर राज्य सरकार द्वारा प्रस्तावित सर्वदलीय बैठक में कहलगांव पुलिस फायरिंग का मुद्दा भी उठायेगी। 2जनवरी को होने वाली बैठक के एजेंडे में सरकार द्वारा जनवितरण प्रणाली के मुद्दे को शामिल करने पर कांग्रेस ने आपत्ति जतायी है। बैठक में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष सदानंद सिंह शिरकत करेंगे। कांग्रेस का मानना है कि कहलगांव पुलिस फायरिंग एवं उसके बाद उत्पन्न परिस्थितियों एवं घटनाओं को बैठक के एजेंडे में शामिल करना उचित होगा। सरकार की इच्छा है तो जनवितरण प्रणाली के मुद्दे पर अलग से बैठक आयोजित करे। प्रदेश प्रवक्ता प्रेमचन्द्र मिश्रा ने कहा कि कहलगांव पुलिस फायरिंग के दिन गुजर गये हैं लेकिन अब तक मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री, ऊर्जा मंत्री, भागलपुर के सांसद सैयद शाहनवाज हुसैन, जिले के मंत्रियों अश्विनी कुमार चौबे, सुधा श्रीवास्तव आदि नेताओं में से किसी ने दौरा नहीं किया है।ड्ढr ड्ढr यह इस बात का प्रमाण है कि सरकार पुलिस फायरिंग को लेकर स्वयं कठघरे में खड़ी है और उसमें आंदोलित लोगों से मिलने की हिम्मत नहीं है। श्री मिश्रा ने बताया कि राज्य की जनता को यह जानने का हक है कि कहलगांव में किसके इशारे पर गोली चलायी गई। आला अधिकारियों के बयान से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सरकार मामले की लीपा-पोती में लगी हुई है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: डा. सूरिदेव को जैन साहित्य का ‘अहिंसा अंतरराष्ट्रीय’ अवार्ड