अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यशपाल ने उत्तर क्षेत्र को उभारा

यशपाल सिंह के पैवेलियन लौटने पर साथी खिलाड़ियों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया। वहइस सम्मान के हकदार थे। यशपाल भले ही महज तीन रन से शतक पूरा करने से चूक गए। लेकिन उन्होंने दलीप ट्राफी क्रि केट मैच के दूसरे दिन उत्तर क्षेत्र को न केवल संकट से निकाला बल्कि मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। उत्तर क्षेत्र ने पहली पारी में 2रन बनाए। शनिवार को दक्षिण क्षेत्र 157 रन पर सिमट गया था। रविवार को स्टाम्प के समय तक दक्षिण ने दूसरी पारी में दो विकेट खोकर रन बना लिए। पहली पारी के आधार पर उत्तर क्षेत्र के 142 रन बढ़त हासिल की है। विपक्षी टीम अभी भी उससे 47 रन पीछे हैं। दक्षिण के एस.विजय (24) और कप्तान एस.बद्रीनाथ (10) क्रीज पर थे। उत्तर क्षेत्र ने पांच विकेट पर 104 रन से आगे खेलना शुरू किया तो उसका सारा दरोमदार यशपाल औरउदय कौल पर था। उस जोड़ी ने उम्मीदों पर तुषाराघात नहीं हो दिया। सर्विसेज को 26 वर्षीय बल्लेबाज यशपाल तो एकाग्रता की सूरत नजर आ रहे थे। यशपाल और उदय ने संभलकर खेलते हुए दक्षिण की 151 रन के आंकड़े को पार कर हीचैन लिया। यह जोड़ी अलग होने तक ??? विकेट पर 71 रन की साझेदार कर चुकी थी। यशपाल और उदय ने इस काम के लिए 28.4 ओवर तक क्रीज पर कब्जा जमाए रखा। इनको अहंम के आगे दक्षिण के गेंदबाजों की एक न चली। वैसे भी कल जो विकेट तेज गेंदबाजों के लिए स्वर्ग बना हुआ था आज आश्चर्यजनक तौर पर बल्लेबाजों का मददगार नजर आने लगा। लंच तकसिर्फ उदय का विकेट गिरा जबकि कल पहले सत्र में दक्षिण की टीमआठ विकेट गंवा चुकी थी। उदय ने 77 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 33 रन बनाए। यशपाल ने इसके साथ दो और उपयोगी साझेदारियां दीं। उदय की जगह आए सचिन राना और यशपाल ने सातवें विकेट पर 46 रन बनाए। राना 54 गेंदों पर 28 रन बनाकर आउटट हुए। उन्होंने एक छक्का व तीन चौके जड़े। आठवें विकेट पर यशपाल और अमित मिश्रा ने 47 रन जोड़े। यह जोड़ी दूसरी नई गेंद लेने के बाद दूसरी गेंद पर टूट गई। यशपाल दुर्भाग्याशाली रहे और सत्र का दूसरा शतक ठोकने से केवल तीन रन दूर रह गए। रनों की पारी के लिए यशपाल ने 214 गेंदें खेली और बारह चौके व प्रज्ञान ओझा की गेंदपर दो छक्के लगाए। इंडियन नेवी के अधिकारी यशपाल इस सत्र में (रणजी प्लेट) एक शतक सहित 318 रन बना चुके हैं। उन्होंने पिछले साल दलीप ट्राफी में बेहतरीन प्रदर्शन किया था। तीन मैचों में उन्होंने 273 रन बनाए थे जिसमें तीन अर्धशतक शामिल हैं। अमित मिश्रा 47 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने 56 गेंदों का सामना किया और एक छक्का व सात चौके जड़े। विनय कुमार सर्वाधिक सफल गेंदबाज रहे। उन्होंने 87 रन देकर चार विकेट झटके। एम.सी. अपप्या ने 54 रन देकरतीन बल्लेबाजों को चलता किया। दक्षिण क्षेत्र के दूसरी पारी में पहला झटका तो जल्दी लग गया। जब ओपनर रवि तेजा (15) को मलिक ने सचिन के हाथों लपकवा दिया। ?????? (37) और एम.विजय ने ??? विकेट पर 54 रन जोड़ कर कल का दोहराव नहीं होनेदिया। खेल समाप्त होने के समय एम.विजय और बद्रीनाथ क्रीज पर थे। यह जोड़ी तीसरे विकेट पर 17 रन जोड़ चुकी है। क्षेत्र रक्षण के दौरान दक्षिण को एक झटका लगा। उसने विकेटकीपर तिलक नायडू को उंगली में चोट के कारण मैदान छोड़ना पड़ा। पहले एम.विजयने कीपिंग की। लंच के बाद ?? असनोडकर ने यह जिम्मेदारी संभाली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: यशपाल ने उत्तर क्षेत्र को उभारा