अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रैकेट का सूत्रधार विदेश फरार!

गुड़गांव में पर्दाफाश हुए गुर्दा कांड के मुख्य अभियुक्तों में से एक डॉ. अमित कुमार कोई दूसरा नहीं बल्कि बारह साल पहले जयपुर में राजस्थान के पहले गुर्दा कांड में वांछित संतोष उर्फ सन्नी रावत है। अमित के खिलाफ शहर के सोडाला थाने में तीन मामले दर्ज हैं। उसके खिलाफ शहर की एक फास्ट ट्रैक अदालत ने स्थायी वारण्ट भी जारी किये हुए हैं, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया।ड्ढr ड्ढr उधर हरियाणा पुलिस ने रविवार को इस बात की संभावना से इंकार नहीं किया कि डॉक्टर अमित अपने विदेशी ग्राहकों की मदद से देश छोड़ चुका है। इस बात का संदेह है कि छापे से पहले किसी ने अमित को इसकी जानकारी दे दी थी और वह कार्रवाई से तकरीबन आधा घंटे पहले ही बड़ी हड़बड़ी में क्लीनिक छोड़कर भागा था। इस बीच पुलिस ने मुरादाबाद और हरियाणा में उसके कुछ संभावित ठिकानों पर छापे मारे। इन छापों में अमित तो पुलिस के हाथ नहीं लगा पर उसे भागने में किसने मदद दी इसपर दोनों राज्यों की पुलिस ने आरोप-प्रत्यारोपों का खेल शुरू कर दिया। यूपी पुलिस ने मुरादाबाद में कई जगह छापे मारे मगर एसएसपी प्रेम प्रकाश ने कोई भी जानकारी देने से इंकार कर दिया। गुड़गांव के पुलिस आयुक्त मोहिंदर लाल ने कहा, ‘हम इस बात की संभावना से इंकार नहीं कर रहे कि वह देश छोड़ चुका होगा। हालांकि वह कानूनी शिकंजे से बच नहीं पाएगा।’ उन्होंने कहा, ‘पांच सौ गैर कानूनी प्रत्यारोपण करने वाले व्यक्ित को यूं ही जाने नहीं दिया जाएगा और हम उसे जल्द ही धर दबोचेंगे।’ डॉ. अमित और उसके साथी शहर के पॉश श्याम नगर इलाके के श्याम नर्सिग होम में गुर्दा तस्करी एवं प्रत्यारोपण की अपनी गैरकानूनी कार्रवाइयों को अंजाम देते थे। इसमें हैदराबाद का जीवन दादा एवं कुछ अन्य दलाल बतौर बिचौलिये लोगों को बहला-फुसला कर लाते थे। अमित उर्फ सन्नी बिना जानकारी के उनका गुर्दा निकाल कर दस से बीस लाख रुपयों में बेच देता था। यदि किसी व्यक्ति को गुर्दा निकाल लिये जाने का पता चल जाता तो उसे मुंह बंद रखने के लिये कुछ हजार रुपये दे दिए जाते। अमित को तीन साल पहले मुम्बई पुलिस ने पकड़ा था, लेकिन जयपुर पुलिस को इसकी भनक नहीं लग पाई और गिरफ्तारी के कुछ महीने बाद जमानत मिलने पर वह कनाडा भाग गया था।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रैकेट का सूत्रधार विदेश फरार!