DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिंद महासागर में सुनामी की पूर्व सूचना मिलेगी

ार्मनी के वैज्ञानिक हिंद महासागर में सुनामी की पूर्वसूचना देने वाले सिस्टम पर जल्द ही काम पूरा कर लेंगे। इस परियोजना के संयोजक जोर्न लॉटरजंग के अनुसार ‘जर्मन-इंडोनेशियाई सुनामी अर्ली वार्निग सिस्टम फार इंडियन ओशियन’ (जीआईटीईडब्लूयएस) तयशुदा समय से तैयार हो जाएगा। जोर्न जर्मनी की भूगर्भ विज्ञान संबंधी राष्ट्रीय प्रयोगशाला के ‘जियोफारचंग्सजेंट्रम पोट्सडैम’ (जीएफजेड) से जुड़े हैं। समाचार एजेंसी ‘डीपीए’ के अनुसार पानी के नीचे समुद्र तल पर दबाव संबंधी डाटा को चेतावनी केंद्र तक ोजने की प्रक्रिया जसे सिस्टम के कई महत्वपूर्ण काम निपटाए जा चुके हैं। जोर्न ने कहा, ‘‘इसे वर्ष 2008 तक स्थापित कर दिया जाएगा। वर्ष 200ी शुरुआत में हम इंडोनेशियाई सहकर्मियों के साथ मिल कर इसे संचालित करेंगे। वर्ष 2010 तक यह सिस्टम पूरी तरह से इंडोनेशियाई समूह को दे दिया जाएगा।’’ दरअसल इसके पीछे चेतावनी केंद्र स्थापित किए जाने की योजना है जहां डाटा एकत्र करने से ले कर सभी तकनीकी उपकरणों का संचालन होगा। अन्य कई विशेषताओं के चलते यह केंद्र विश्व का पहला ऐसा चेतावनी केंद्र होगा। इसे जर्मन एरोस्पेस सेंटर द्वारा किया जा रहा है। जोर्न ने कहा, ‘‘हमारा उद्देश्य पीड़ितों की संख्या को निम्नतम करना है।’’ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हिंद महासागर में सुनामी की पूर्व सूचना मिलेगी