अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्षयरोग की नई दवा अगले पांच साल में

लोबल हैल्थ इंस्टीट्यूट स्विटजरलैंड के निदेशक प्रोफेसर स्टीवर्ट कोल के मुताबिक क्षयरोग की नई दवा अगले पांच साल में विकसित कर ली जाएगी। इस दवा की खासियत होगी कि यह क्षयरोग के इलाज की अवधि छह महीने से घटाकर दो महीने कर देगी। कोल ने सोमवार को यहां सेंटर फॉर डीएनए फिंगर प्रिंटिग और डायग्नोस्टिक के 11वें स्थापना दिवस पर ए वर्ल्ड विदआउट टयूबरकुलोसिस विषय पर बोलते हुए संवाददाताआें को बताया कि उनके संस्थान ने क्षयरोग (टीबी) की नई दवा एनएम4टीबी की परियोजना पर कार्य करना शुरू कर दिया है। इस परियोजना की वित्त पोषक संस्था यूरोपीय आयोग होगा। इस दवा के लिए पांच नमूने तैयार कर लिए गए हैं और इनके दूसरे और तीसरे स्तर के परीक्षण चल रहे हैं। कोल के मुताबिक इनमें से एक दवा के पांच साल के भीतर तैयार हो जाने की संभावना है। इस दवा के प्रयोग से मरीज को ठीक होने में कम समय लगेगा। उन्हांेने बताया कि इस दवा के चूहों पर परीक्षण किए गए हैं जो कि काफी सफल रहें हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: क्षयरोग की नई दवा अगले पांच साल में