अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तीन बसपाई सांसदों की छिनी सदस्यता

लोकसभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी ने वर्ष 2004 में बसपा की टिकट पर चुनाव जीते भालचंद्र यादव (खलीहाबाद), रमाकांत यादव (आजमगढ़) व मोहम्मद शाहिद अखलाक (मेरठ) की सदस्यता रद्द कर दी है। उत्तर प्रदेश के इन तीनों सांसदों को बसपा से बगावत कर सपा के साथ चले जाने के कारण संसद सदस्यता के अयोग्य घोषित किया गया है और उनकी बर्खास्तगी 27 जनवरी 2008 से प्रभावी मानी जाएगी। इन तीनों सीटों के रिक्त होने की सूचना निर्वाचन आयोग को भेज दी गई है। इस बीच, सपा के बागी बेनी प्रसाद वर्मा व हरियाणा से कांग्रेससांसद कुलदीप विश्नोई (भजन लाल के पुत्र) की सदस्यता खत्म करने के मामले में भी फै सला अंतिम चरण में पहुंच गया है।ड्ढr ड्ढr भालचंद्र यादव, रमाकांत व मोहम्मद शाहिद अखलाक ने नवंबर-दिसंबर 2006 में सपा का दामन थाम लिया था और यूपी में पिछले विधानसभा चुनाव में जमकर बसपा के खिलाफ प्रचार किया था। बागी सांसदों को दलबदल विरोधी कानून के तहत अयोग्य घोषित करने की मांग लोकसभा में बसपा नेता राजेश वर्मा ने की थी। सोमनाथ चटर्जी ने अंतिम फैसला लेने से पहले दिसंबर के दूसरे सप्ताह में इन तीनों को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया था। लेकिन बसपा ने इनके खिलाफ पुख्ता सबूत देकर साबित कर दिया था कि ये सपा की राजनीतिक गतिविधियों में हिस्सा ले रहे हैं। सबूत के तौर पर वीडियो क्िलपिंग, अखबारों की कतरनें और सपा नेताआें के साथ फोटो आदि पेश किए गए। संविधान की 10वीं अनुसूची के तहत दिए निर्णय में अध्यक्ष ने माना कि इन सदस्यों ने स्वयं ही अपनी पार्टी का त्याग किया जिसके कारण वे सदस्यता के योग्य नहीं रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तीन बसपाई सांसदों की छिनी सदस्यता