अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सिर्फ सौ बिस्तरों का होगा राजनारायण अस्पताल

सरकार ने पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट राजनारायण अस्पताल का कद छोटा कर दिया है। अब इसे 300 के स्थान पर 100 बेड का बनाया जाएगा। शासन के निर्देश पर अब राजकीय निर्माण निगम ने अस्पताल को सौ बेड के हिसाब से बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है। इसका बजट भी घटाकर आधे से कम कर दिया गया है।ड्ढr पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने लगभग डेढ़ वर्ष पहले एलडीए कालोनी कानपुर रोड में राजनारायण अस्पताल की नींव रखी थी। तत्कालीन सपा सरकार ने शुरू में इसे सौ बेड का बनाने का प्रस्ताव तैयार किया था तथा इस पर लगभग 12 करोड़ रुपए खर्च होने थे। शासन ने निर्माण के लिए राजकीय निर्माण निगम को लगभग आठ करोड़ रुपए भी दे दिया था। निर्माण निगम ने सौ बेड के हिसाब से अस्पताल की बुनियाद (नींव) तैयार भी कर ली थी। इसी बीच तत्कालीन कैबिनेट ने अस्पताल को सौ से बढ़कार तीन सौ बेड करने का निर्णय लिया। अस्पताल की लागत भी 12 से बढ़ाकर 50 करोड़ रुपए कर दी गई।ड्ढr सरकार के निर्णय के बाद राजकीय निर्माण निगम को अस्पताल की बुनियाद तोड़नी पड़ी थी क्योंकि 100 बेड व दो मंजिल के चलते अस्पताल की नींव कमजोर बनी थी। जो तीन सौ बेड व चार मंजिल के अस्पताल के लिए उपयुक्त नहीं थी। नींव तोड़ने पर राजकीय निर्माण निगम को लगभग 17 लाख रुपए का नुकसान हुआ था। वर्तमान सरकार ने एक बार फिर से अस्पताल का कद तीन सौ से घटाकर सौ बेड कर दिया है। अब अस्पताल चार मंजिल की बजाय केवल दो मंजिल का बनेगा। सरकार ने इसका बजट भी घटाकर आधे से कम कर दिया है।ड्ढr सूत्र बताते हैं कि शासन पूर्व सपा सरकार के इस प्रोजेक्ट पर ज्यादा रकम खर्च करने के पक्ष में नहीं है। इसीलिए उसने अस्पताल का कद घटाया है। योजना का काम देख रहे निर्माण निगम के वरिष्ठ परियोजना प्रबंधक ए.के.गौतम ने अस्पताल को तीन सौ के स्थान पर सौ बेड का बनाने के बात की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि सौ बेड के हिसाब से प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। लगभग 20 दिनों के भीतर अस्पताल का निर्माण शुरू हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब सिर्फ सौ बिस्तरों का होगा राजनारायण अस्पताल