अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गोलछा हत्याकांड का अभियुक्त धीरेन्द्र गिरफ्तार

ारबिसगंज के प्रसिद्ध उद्योगपति अरुण गोलछा हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त एवं भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्रों का आतंक बना कुख्यात धीरेन्द्र यादव आखिरकार नेपाल पुलिस के हत्थे चढ़ गया। एसपी राज खनाल के नेतृत्व में नेपाल की सुनसरी पुलिस ने इटहरी स्थित होटल रॉयल रिसोर्ट के समीप एक अन्य सहयोगी के साथ धीरेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार कुख्यात धीरेंद्र यादव सीमावर्ती पुलिस के लिए सरदर्द बना हुआ था तथा गोलछा हत्याकांड के बाद सरकार ने उसकी गिरफ्तारी के लिए टास्क फोर्स का गठन कर रखा था। भारतीय क्षेत्र के अलावा नेपाल मंे भी कई अपहरण, लूट व मुठभेड़ में शामिल है धीरेन्द्र यादव। उसके साथ पकड़ाया सहयोगी नेपाल में सक्रिय आंदोलनकारी संगठन जनतांत्रिक तराई मुक्ित मोर्चा का सदस्य है।ड्ढr ड्ढr घटना की सूचना मिलते ही अररिया के एसपी विनोद कुमार तथा सुपौल एसपी श्याम कुमार सदलबल नेपाल स्थित इटहरी रवाना हो गये। अररिया के एसपी विनोद कुमार ने धीरेन्द्र यादव की नेपाल पुलिस द्वारा गिरफ्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि नेपाल में ये अपराधी छूटें नहीं, इसका भरपूर प्रयास किया जा रहा है। एसपी ने बताया कि कुख्यात धीरेन्द्र को पुलिस वषरे से खोज रही थी तथा इसकी गिरफ्तारी के लिए टास्क फोर्स गठित किया गया। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस के डर से वह कुख्यात नेपाल में छिपा था। बताया जाता है कि तकरीबन तीन दर्जन संगीन मामलों का अभियुक्त धीरेन्द्र यादव सिमराही बाजार स्थित मुखिया विपिन चौधरी की हत्या कर काफी चर्चा में आया। विपिन चौधरी राधोपुर के जदयू विधायक नीरज कुमार बबलू के समर्थक थे। उसके बाद कुमारखंड स्थित नरसिंह कंस्ट्रक्शन के अभियंताआें की हत्या में भी उसका नाम उछला । उसके बाद पुलिस के भय से उसने अपना ठिकाना नेपाल में बना लिया । जहां से अपहरण जैसी कई घटना को अंजाम दिया। नेपाल में रहते हुए उसने एक उद्योगपति एवं एक चिकित्सक का अपहरण कर नेपाल में खौफ पैदा कर दिया बल्कि नेपाल में अपना गिरोह भी तैयार कर लिया। उसके बाद 7 फरवरी 07 को सरेआम चर्चित उद्योगपति अरुण गोलछा की हत्या कर सीमावर्ती क्षेत्र में सनसनी फैला दी।ड्ढr ड्ढr पुलिस को पता था कि कुख्यात धीरेन्द्र नेपाल में सुनसरी जिला को अपना क्षेत्र बनाये हुए है क्योंकि विपिन चौधरी की हत्या के बाद सुनसरी के भुटहा निवासी व्यवसायी सूर्य किरण बोथरा तथा विराटनगर के व्यवसायी पवन दास राठी का अपहरण कर उसने लाखों रुपये की उगाही की थी। उसके बाद राजविराज के एक चर्चित चिकित्सक का अपहरण भी नेपाल में सक्रिय एक संगठन के साथ मिलकर किया था। उस अपहरण में डाक्टर के परिजन से पचास लाख रुपये वसूलने की चर्चा थी। सूत्रों की मानें तो कुख्यात धीरेन्द्र पर भारत नेपाल में लगभग चार दर्जन आपराधिक मामले दर्ज हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गोलछा हत्याकांड का अभियुक्त धीरेन्द्र गिरफ्तार