DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रों ने परीक्षा केन्द्र में आग लगाई

ेन्द्राधीक्षक द्वारा कथित र्दुव्‍यवहार व महिला पुलिस के बजाय पुलिस से महिला परीक्षार्थियों की जांच कराये जाने के विरोध में शुक्रवार से शुरू विधि परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा एवं आगजनी की व परीक्षा का बहिष्कार किया। तत्पश्चात केन्द्र पर परीक्षा दे रही मात्र दो छात्राओं की उत्तर पुस्तिकाओं को फाड़ डाला। इसके बाद महाविद्यालय परिसर में अफरा-तफरी मच गई और छात्रों ने जमकर हंगामा मचाया। जबतक पुलिस परीक्षा केन्द्र पर पहुंचती, छात्र सड़क पर उतर चुके थे।ड्ढr ड्ढr सासाराम-आरा पथ में लालगंज और पोस्ट ऑफिस चौक पर जीटी रोड को जाम कर प्रदर्शन कर रहे परीक्षार्थियों पर पुलिस ने बल प्रयोग किया। जिससे शहर में अफरा तफरी मची रही। इस संदर्भ में केन्द्राधीक्षक सह प्राचार्य डा. धर्मराज सिंह ने बताया कि कुल 344 परीक्षार्थियों द्वारा कॉपी फाड़ने व नियंत्रण कक्ष से हुई कॉपी की लूट के बाद मात्र एक महिला परीक्षार्थी ही परीक्षा दे सकी। इधर परीक्षार्थियों ने महाविद्यालय प्रशासन पर पुरुष पुलिस द्वारा महिलाओं की जांच कराने का आरोप लगाया। परीक्षार्थियों ने कहा कि केन्द्राधीक्षक द्वारा परीक्षार्थियों के साथ र्दुव्‍यवहार करने पर परीक्षा का बहिष्कार किया गया है। उधर शांति प्रसाद जैन महाविद्यालय में विधि के पार्ट प्रथम व द्वितीय की परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हो गई। शेरशाह कॉलेज में अनुमंडल पदाधिकारी मनीष कुमार व सहायक पुलिस अधीक्षक पी. कन्नन कैंप किये थे। देर शाम परीक्षा केन्द्र शेरशाह कालेज के कमरे में उपद्रवियों द्वारा आग लगा दिया गया। कमरे से आग की उठती लपट को देख लोगों द्वारा इसकी सूचना पुलिस को दी गई है। खबर लिखे जाने तक घटनास्थल पर पुलिस नहीं पहुंची थी।ड्ढr ड्ढr आरा में लॉ की परीक्षा का बहिष्कार, हंगामाड्ढr आरा (आ.सं.)। विधि स्नातक की परीक्षा में विवि प्रशासन के बेहद सख्त रवैये के खिलाफ एलएलबी तृतीय खंड के परीक्षार्थियों ने एसबी कॉलेज आरा में परीक्षा का बहिष्कार कर दिया। आक्रोशित परीक्षार्थियों ने एसबी कॉलेज केन्द्र और विवि मुख्यालय पर जोरदार हंगामा मचाया। छात्रों ने कुलपति और प्रधानाचार्य के खिलाफ नारेबाजी भी की। छात्रों के तेवर को देखते हुए प्रशासन के आलाधिकारियों ने वज्रवाहन के साथ स्वयं मोर्चा संभाला और स्थिति को नियंत्रित किया। इस दरमियान विभिन्न परीक्षा केन्द्रों से 42 परीक्षार्थी कदाचार के आरोप में निष्कासित किए गए। सूत्रों के अनुसार विधि की परीक्षा को लेकर विभिन्न परीक्षा केन्द्रों पर प्रशासन की चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था की गई थी। मुख्य द्वार पर ही मजिस्ट्रेट और पुलिस की उपस्थिति में चीट-पुर्जे की सघन तलाशी ली गई। इस स्थिति को देख एसबी कॉलेज केन्द्र पर परीक्षा देने पहुंचे एलएलबी तृतीय खंड के परीक्षार्थियों ने परीक्षा देने से इंकार कर दिया। छात्रों ने पढ़ाई नहीं होने का हवाला देते हुए परीक्षा में कम सख्ती बरतने की मांग की। परीक्षार्थियों ने यह भी आरोप लगाया कि बीएड और प्रीपीएचडी जैसी परीक्षा में लूट की खुली छूट थी तो इस परीक्षा में इतनी सख्ती क्यों?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छात्रों ने परीक्षा केन्द्र में आग लगाई