DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘चंद्रयान’ इंडो-यूएस सहयोग की नई शुरुआत’

अमेरिका-भारत व्यापार परिषद ने भारत और अमेरिकी के बीच चद्रयान मिशन में आपसी सहयोग का स्वागत करते हुए कहा है कि यह दोनों देशों के बीच एक नई शुरुआत है। इससे दोनों देशों के बीच अतरिक्ष सहयोग की दिशा में आपसी विश्वास और सहयोग को बढ़ावा मिलेगा। परिषद के अध्यक्ष रोन सोमर्स ने कहा कि चंद्रयान मिशन वैज्ञानिक खोजों की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति जॉर्ज बुश का अंतरिक्ष सहयोग की दिशा में किए गए प्रयास से चंद्रयान-1 अभियान को बल मिलेगा। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी (इसरो) के अध्यक्ष जी माधवन नायर अभी अमेरिका के दौरे पर हैं। गौरतलब हो कि भारत का पहला मानवरहित चंद्रयान-1 अप्रैल 2008 में चांद पर जाएगा। इसमें अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नासा’ के भी दो उपकरण होंगे जोकी चांद का मानचित्र बनाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘चंद्रयान’ इंडो-यूएस सहयोग की नई शुरुआत’