अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोजपुर के बड़हरा में 60 गरीबों के घर राख

बड़हरा प्रखंड के कवल छपरा गांव में रविवार को भीषण अगलगी में गरीबों के 60 घर पूरी तरह से जलकर राख हो गये हैं। इस घटना में लाखों की संपत्ति नष्ट हो गई है। ग्रामीणों ने बताया कि खाना बनाने के दौरान घटना हुई जिसमें देखते ही देखते सभी घर जलकर राख हो गये। किसी जानमाल की क्षति की खबर नहीं है। घटना की सूचना पाकर सिन्हा आेपी के प्रभारी विजय कुमार राय तथा बीडीआे अजय कुमार सिंह ने पहुंचकर बेघर हुए लोगों को तत्काल चूड़ा और गुड़ खाने को उपलब्ध कराया। किसी वरीय अधिकारी या जनप्रतिनिधि के पहुंचने की सूचना नहीं है। सूत्रों ने बताया कि अगलगी के शिकार लोगों में मदन मल्लाह, बैधनाथ मल्लाह, हीरालाल ,योगेन्द्र , हरेराम, धनजी मल्लाह, जय मल्लाह, विजय , रघुनाथ मल्लाह, दशरथ , रामसकल , गणेश , परमात्मा मल्लाह, भवानी मल्लाह, शंकर मल्लाह, करीमन, त्रिलोकी , रामनाथ मल्लाह, कामेश्वर, आेमप्रकाश , राजकुमार, शत्रुधन पंडित, लक्ष्मण पंडित, कृष्ण पंडित, मोहन पंडित, रामजी पंडित, कन्हैया पंडित शामिल है। होमगार्ड की महिला अभ्यर्थियों का हंगामाड्ढr गया (हि.प्र.)। होमगार्ड की बहाली से वंचित की गईं ग्रामीण महिला अभ्यर्थियों ने गांधी मैदान में हंगामा किया। महिला अभ्यर्थियों ने बहाली की प्रक्रिया को लेकर नारेबाजी की। जिलाधिकारी के आश्वासन के बाद अभ्यर्थी महिलाएं शांत हुईं। हरिहर सुब्रह्मनियन स्टेडियम में चल रही गृहरक्षकों की बहाली में रविवार को महिला अभ्यर्थियों की शारीरिक जांच परीक्षा हुई। जांच परीक्षा से ग्रामीण महिला अभ्यर्थियों को यह कहकर वंचित कर दिया गया कि यह बहाली सिर्फ शहरी महिला के लिए है। ग्रामीण महिलाएं इस घोषणा से उत्तेजित हो गईं। उन लोगों ने बहाली प्रक्रिया पर प्रश्नचिह्न् लगाते हुए नारेबाजी शुरू कर दी। महिला अभ्यर्थियों का कहना था कि जब सिर्फ शहरी महिलाआें का चयन करना था तो फार्म क्यों भराया गया। बाद में डीएम जितेन्द्र श्रीवास्तव ने उन लोगों को नियम समझाया और 10 फरवरी को फार्म वापस कर देने का आश्वासन दिया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भोजपुर के बड़हरा में 60 गरीबों के घर राख