DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पटरी पर ट्रक फंसा,घंटों रुकी रहीं ट्रेनें

रविवार को दानापुर रेलवे स्टेशन से करीब एक किमी पूरब स्थित गुमटी पर ट्रक फंस जाने के कारण अप व डाउन ट्रेनों का परिचालन तीन घंटे तक ठप रहा। दर्जनों ट्रेनें यहां-वहां खड़ी रहीं। सुबह 11 बजे ट्रक इस तरह फंस गया कि दानापुर रेल मंडल के अधिकारियों की कड़ी मशक्कत के बाद अपराह्न् लगभग दो बजे परिचालन शुरू हुआ। गुमटी पार करने के दौरान बीआर 1 जी 8514 नंबर का ट्रक पटरी पर जाकर खराब हो गया। जल्दी में पटरी पार करने के चक्कर में ट्रक के इंजन की क्लच प्लेट भी जल गई। इस कारण पटना-खगौल सड़क मार्ग पर भी वाहनों की लंबी कतारें लग गयीं।ड्ढr ड्ढr कोई चारा न देख अंत में दुर्घटना राहत यान मंगवाया गया और ट्रक को हटाने में सफलता मिली। इस बीच अप लाइन पर श्रमजीवी एक्सप्रेस दानापुर आउटर सिग्नल पर, पटना में लोकमान्य तिलक, महानंदा एक्सप्रेस आदि ट्रेनें फंसी थीं। डाउन लाइन पर मगध एक्सप्रेस, तूफान एक्सप्रेस, गुवाहाटी-आेखा एक्सप्रेस खड़ीं थीं। सबसे पहले विभिन्न स्टेशनों पर खड़ी आधा दर्जन ट्रेनों को पास कराया गया फिर गुमटी को खोला गया। इसके बाद सड़क पर फंसे वाहन आगे बढ़े। परिचालन बाधित रहने के कारण पटना-बक्सर 511 व 513 सवारी गाड़ी तीन-तीन घंटे लेट से रवाना हुई। इसका असर मगध एक्सप्रेस की वापसी में भी पड़ा। मगध पटना से डेढ़ घंटे विलंब से दिल्ली के लिए रवाना हुई। दूसरी आेर अपरिहार्य कारणों से कई ट्रेनें घंटांे लेट से पटना जंक्शन पहुंची। इन ट्रेनों में 4083 महानंदा एक्सप्रेस 11 घंटे, 3484 फरक्का एक्सप्रेस पांच घंटे, इंदौर एक्सप्रेस डेढ़ घंटे, 3040 जनता एक्सप्रेस दो घंटे आदि शामिल थीं। नशाखुरानी के शिकार यात्रियों के लिए छपी पुस्तिकाड्ढr पटना (हिप्र)। नशाखुरानी की बाढ़ती घटना स्टेशन प्रबंधकों के लिए सिर दर्द बनती जा रही है। जब भी नशाखुरानी के शिकार यात्रियों की सूचना मिलती है, ट्रेनों के परिचालन में लगे स्टेशन मास्टर के पसीने छूटने लगते हैं। स्टेशन मास्टर बेहोश यात्री को अस्पताल पहुंचाने की कवायद में जुट जाते हैं। इसके लिए उन्हें आरपीएफ व जीआरपी को लिखित सूचना देनी होती है। सूचना में पूरा ब्योरा लिखना होता है। इस झंझट से बचने त्वरित कार्रवाई के लिए राजेंद्र नगर में नशाखुरानी की एक अलग पुस्तिका छपवा दी गयी है। इस पुस्तिका में परफार्मा बना हुआ है। यहां सिर्फ यात्रियों की संख्या व समय लिखकर आरपीएफ व जीआरपी को भेज दिया जाता है। ज्ञात हो कि राजेंद्र नगर में सर्वाधिक नशाखुरानी के शिकार यात्री ट्रेनों से उतारे जाते हैं। इस तरह की पुस्तिका अन्य व्यस्त स्टेशनों पर भी उपलब्ध कराने की योजना है। रिक्शाचालक ने दिया ईमानदारी का परिचयड्ढr पटना (हि.प्र.)। दुनिया में ईमानदार लोगों की कमी नही है। भले ही उनकी संख्या बेइमानों से कम हो। रविवार के दिन एक रिक्शाचालक ने अपनी ईमानदारी का परिचय देकर लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया। हुआ कुछ यूं कि पत्थर की मस्जिद से कल्याणपुर, नालन्दा निवासी रिक्शाचालक संजू राम किसी छात्र का कूलर, बैग, अटैची सहित कई सामान लेकर पत्रकारनगर थाना इलाके में स्थित बुद्धा डेंटल कालेज के लिए रवाना हुआ। पीछे-पीछे स्टूडेंट भी मोटरसाइकिल से चला। बीच में ही रिक्शाचलक रास्ता भटक गया। घंटों तलााशने के बाद जब संजू को कुछ उपाय नहीं सुझा तो वह सीधे पत्रकारनगर थाना पहुंचा और स्टूडेंट का सारा सामान वहीं रख दिया। थानाध्यक्ष निखिल कुमार ने छात्र का सारा सामान थाना में रखवा दिया है। दिन भर चला धूप-छांव का खेलड्ढr पटना (हिप्र)। सप्ताह भर से जारी ठंड का कहर राजधानी समेत सूबे में अभी भी जारी है। रविवार को पूरे दिन शहर में धूप-छांव का खेल चलते रहा। वैसे बीच-बीच में खिलती धूप ने लोगों को थोड़ी राहत दी। हालांकि शाम होते ही ठंड अपने चरम पर पहुंच गया। छुट्टी का दिन होने के कारण लोगों ने ठंड में अपने घरों में ही रहना पसंद किया। इसका असर सड़कों पर भी दिख रहा था। सड़कों पर अन्य दिन के मुकाबले काफी कम वाहनें चलीं। मौसम विभाग के अधिकारी के अनुसार ठंड का प्रकोप अभी जारी रहेगा। रविवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 22 व न्यूनतम छह डिगी से. रिकार्ड किया गया। शनिवार को भी न्यूनतम तापमान 5.8 डिग्र से. था। इस तरह देखें तो दोनों दिन ठंड का समान प्रकोप राजधानी पर रहा। शाम होते ही मौसम में कनकनी बढ़ गयी। गर्म कपड़े पहनने के बाद भी घर से बाहर निकले लोग ठिठुरते रहे। ठंड का कहर विशेष कर सुबह व शाम में अधिक रह रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पटरी पर ट्रक फंसा,घंटों रुकी रहीं ट्रेनें