DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अजीत सरकार हत्याकांड में बहस पूरी, फैसला 14 को

सीबीआई के विशेष न्यायाधीश वीरेन्द्र मोहन श्रीवास्तव ने सोमवार को बहुचर्चित माकपा विधायक अजीत सरकार समेत तीन लोगों की हत्याकांड मामले पर अपना फैसला देने के लिए 14 फरवरी को तिथि निर्धारित की है। इसके साथ ही विशेष अदालत ने हत्याकांड के आरोपित और राजद सांसद राजेश रंजन उफर पप्पू यादव को फैसले के दिन नई दिल्ली के तिहाड़ जेल से लाकर पटना की विशेष अदालत में पेश करने का निर्देश तिहाड़ जेल के अधीक्षक को दिया है।ड्ढr ड्ढr माकपा विधायक अजीत सरकार, उनका ड्राइवर हरेन्द्र शर्मा और उनका दोस्त असफाकू रहमान को अपराधियों ने 14 जून 1ो पूर्णिया के कालीफल्वर मील के पास गोली मार कर हत्या कर दी थी। इस घटना में सरकार का गार्ड रमेश उरांव जख्मी हो गया था। इस हत्याकांड मामले में सीबीआई ने राजद सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव, पूर्व विधायक राजन तिवारी और अनिल यादव के खिलाफ विशेष अदालत में आरोप पत्र दायर किया था। इस हत्याकांड मामले में सांसद पप्पू यादव, पूर्व विधायक राजन तिवारी और अनिल यादव के खिलाफ विशेष अदालत में नौ वर्षो तक ट्रायल चला। इस हत्याकांड मामले में सीबीआई के वकील राकेश कुमार ने विशेष अदालत में कुल 61 गवाहों को पेश किया था। जिनमें से 23 गवाह अपने बयान से मुकर गए और अदालत में होस्टाइल हो गए। वहीं दूसरी ओर सांसद पप्पू यादव और पूर्व विधायक राजन तिवारी ने अपने बचाव में कुल 27 गवाहों को विशेष अदालत में पेश किया था। सांसद पप्पू यादव के बचाव में महाराष्ट्र के नामी वकील माजीद मेमन ने विशेष अदालत में बहस किया।ड्ढr ड्ढr उन्होंने बहस करते हुए कहा कि सीबीआई इस हत्याकांड में पप्पू यादव के खिलाफ झूठा साक्ष्य देकर फंसाया है। वहीं दूसरी ओर सीबीआई के वकील राकेश कुमार ने बहस करते हुए कहा कि अजीत सरकार की हत्या करने की साजिश सांसद पप्पू यादव ने की थी। उनके ही षड़यंत्र के तहत पूर्व विधायक राजन तिवारी, अनिल यादव, हरीश चौधरी अमर यादव ने मिलकर अजीत सरकार समेत तीन लोगों की हत्या किए है। इन तीनों के खिलाफ अदालत में पुख्ता साक्ष्य पेश किया गया। इस हत्याकांड मामले में बचाव पक्ष की ओर से वकील बालमीकि प्रसाद, अभिषेक कुमार, राजेश रंजन, पाण्डेय संजय सहाय, सुनील कुमार ने बहस किया। सुनवाई की अंतिम दिन होने के कारण विशेष अदालत में काफी भीड़ थी। बेउर जेल से पूर्व विधायक राजन तिवारी और अनिल यादव को अदालत में पेश किया गया था। जबकि तिहाड़ जेल में बंद सांसद पप्पू यादव को वीडियो कांफ्रेसिंग खराब रहने के कारण अदालत में पेश नहीं किया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अजीत सरकार हत्याकांड में बहस पूरी, फैसला 14 को