अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोगायो : ढोल की खुल गई पोल

ढोल की खुल गई पोल। बात रोजगार गारंटी योजना की हो रही है। जिले में योजना की हकीकत जानने के लिए 20 सूत्री के प्रभारी मंत्री के निर्देश पर बनी कमेटी की रिपोर्ट बताती है कि अनियमितता नहीं गड़बड़ी के रिकार्ड बनाए गए हैं। रिपोर्ट देखकर अधिकारी भी दांतों तले अंगुली दबाने को मजबूर हैं।ड्ढr ड्ढr कमेटी ने फिलहाल काको प्रखंड की रिपोर्ट तैयार कर ली है। कमेटी में उपविकास आयुक्त, 20 सूत्री के दोनों उपाध्यक्ष , सदस्य शशिरंजन ,एनआरईपी के कार्यपालक अभियंता, आरक्षी उपाधीक्षक शामिल हैं। जांच रिपोर्ट में रुपये लूटने के लिये इजाद किये गये तरीकों को देखकर सदस्य हैरान हैं। कार्यान्वित करायी जा रहीं कई योजनाआें के अभिलेख ही गायब कर दिये गये हैं। कुछ योजनाआें के अभिलेख पंजी में कार्यादेश बाद में निर्गत किये गये हैं जबकि मास्टर रॉल कार्यादेश के पूर्व की तिथि का संलग्न है। अधिकांश योजनाआें की मापी पुस्तिका अभिलेख से गायब है। कुछ को तो प्रखंड कार्यालय ने पंचायत प्रतिनिधियों को सुपुर्द कर दिया है। योजना संख्या 45 में मास्टर रॉल 30 मई 07 से 5 जून तक दिखाया गया है जबकि कार्यादेश 5.6.07 को निर्गत किया गया है । इतना ही नहीं इस योजना में कनीय अभियंता ने कार्यादेश के पूर्व ही द्वितीय अग्रिम की अनुशंसा कर दी है। योजना संख्या 71 , 72 एवं अन्य कई योजनाआें में भी यही स्थिति है। योजना संख्या 78 में प्रथम अग्रिम 5 जून को दिया गया है जबकि द्वितीय अग्रिम के लिये कनीय अभियंता निराला प्रसाद ने 2 जून को ही अनुशंसा की है। योजना संख्या 8में चेक निर्गत करने की तिथि 15 जून है जबकि अभिकर्ता ने उसे 10 जून को ही प्राप्त कर लिया है। योजना संख्या 57 में अभिकर्ता नवल किशोर सिंह ने आवेदन देकर कनीय अभियंता की अनुशंसा के आलोक में अग्रिम की मांग की परन्तु प्रखंड विकास पदाधिकारी ने करीब 50 हजार रुपये की वापसी के लिये नोटिस दिया है। कई अभिलेखों में तो अभिकर्ता के नाम भी दर्ज नहीं हैं एवं उन्हें दूसरी किस्त दे दी गई है। योजना संख्या 62 से कार्यादेश 5 जून को निर्गत किया गया है जबकि अग्रिम 2मई को ही दे दिया गया है। द्वितीय अग्रिम के लिये अनुशंसा 12 जून को की जाती है जबकि द्वितीय अग्रिम जून को ही अभिकर्ता प्राप्त कर लेता है। भाजपा महामंत्री शशिरंजन के द्वारा 20 सूत्री की बैठक में मामला उठाये जाने एवं प्रभारी मंत्री के जांच के निर्देश के बाद बचने के लिये दर्जनों योजनाआें के मास्टर रॉल में विभिन्न योगों को काटकर एक ही राशि अंकित की गई।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रोगायो : ढोल की खुल गई पोल