DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों के हालात पर पीएमआे की नजर

बिहार के सभी 38 जिलों के किसानों की तस्वीर अब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के सामने होगी। किसानों के हालात और सरकारी योजनाआें से उनमें हो रहे बदलाव पर पूरी नजर रखेगा प्रधानमंत्री कार्यालय। इसी के साथ राज्य में केन्द्र प्रायोजित कृषि संबंधी योजनाआें की समीक्षा भी होगी।ड्ढr ड्ढr सारी स्थिति की जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय में माउस क्िलक करते ही कम्प्यूटर के स्क्रीन पर होगी। इसके लिए बिहार के सभी जिलों की ‘आत्मा ’ की अपनी बेवसाइट होगी। बमेती के निदेशक डा. आर. के. सोहाने ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा जिलों को यह निर्देश दिया गया है कि वे अपनी बेवसाइट तैयार कर उसकी होस्टिंग करा लें। निर्देश में यह भी कहा गया है कि सभी जिले शीघ्र अपनी बेवसाइट का पता राज्य कार्यालय को भेज दें ताकि प्रधानमंत्री कार्यालय को इसकी जानकारी दी जा सके। कृषि विभाग के अवर सचिव सह कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण (आत्मा) के राज्य नोडल अधिकारी राय प्रमोद कु मार के हस्ताक्षर से निर्गत तत्संबंधी पत्र में कहा गया है कि बेवसाइट की स्थापना में आत्मा जिले की एनआईसी से मदद ले सकती है तथा इसपर आने वाले खर्च की राशि संबंधित जिले की कंटिजेंसी से प्राप्त की जा सकती है। कृषि प्रौद्योगिकी प्रबंध अभिकरण (आत्मा) परियोजना का अनुश्रवण प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा हर माह किया जायेगा और इसके लिए जिलों की अपनी बेवसाइट होना जरूरी है। सभी जिलों को भेजे गये पत्र में कहा गया है कि उनके द्वारा अपना प्रगति प्रतिवेदन इलेक्ट्रॅानिक मॉनीटरिंग सिस्टम द्वारा इन्टरनेट से ऑनलाइन भेजा जाना आवश्यक है।ड्ढr विदित हो कि जिलों में नवगठित आत्मा ही अब सिंगल विंडो सिस्टम से किसानों को कृषि संबंधी सभी जानकारियां देती है। इसके लिए सरकारी योजनाआें की अद्यतन जानकारी उसे रखना होता है। प्रधानमंत्री कार्यालय भी केन्द्र प्रायोजित कृषि संबंधी सारी योजनाआें की अद्यतन स्थिति की जानकारी यहीं से प्राप्त कर लेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किसानों के हालात पर पीएमआे की नजर