DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गरीबी से त्रस्त दंपति ने जान दी

थानीय कोतवाली क्षेत्र के मिठनेपुर गाँव में अनुसूचित जाति के एक दंपति ने रविवार देर रात अपने घर में ही फाँसी लगाकर जान दे दी। घटना से स्तब्ध ग्रामीणों ने बताया कि लाल मुन्ना (30) व उसकी पत्नी फूलादेवी (28) अपने चार बच्चों के साथ पिता से अलग रहते थे। लालमुन्ना ईंट-भट्ठे पर मजदूरी व कालीन बुनने का भी काम करता था। आर्थिक तंगी के कारण पति-पत्नी में आए दिन झगड़ा हुआ करता था। घर की माली हालत ठीक न होने और रोज के कलह से तंग आए पति-पत्नी ने तनाव के कारण देर रात में रस्सी बाँधकर फाँसी लगा ली।ड्ढr इस हादसे का खुलासा सोमवार सुबह हुआ। एसपी दुर्गाचरण मिश्र व एसडीएम कादीपुर अजय कुमार भी मौके पर पहुँचे। एसडीएम ने मृतकों के परिवारीजनों को क्रियाकर्म के लिए दो हजार रुपए नकद दिए और उसके बड़े लड़के 12 वर्षीय धर्मेन्द्र व वृद्ध पिता महँगू को ढाँढस बँधाते हुए मुख्यमंत्री कोष से आर्थिक सहायता दिलाने का आश्वासन दिया। उधर, एसपी श्री मिश्र ने बताया कि लाल मुन्ना अपनी पत्नी के चरित्र पर संदेह करता था। इस कारण दोनों के बीच झगड़ा हुआ करता था। अधिकारियों की मौजूदगी में दोनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: गरीबी से त्रस्त दंपति ने जान दी