अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खजाने से निकला 900 करोड़

वित्तीय वर्ष के अंतिम दिन 31 मार्च को राज्य भर में ट्रेारी से करीब 00 करोड़ रुपये की निकासी हुई। इस बार 31 मार्च को अन्य सालों की तुलना में ट्रेारी और बैंक में आपाधापी कम रही।ड्ढr अधिकांश ट्रेारी में डेढ़ साल तक बिलों का निपटारा हो चुका था। रांची ट्रेजरी में ठेकेदारों एवं कर्मचारियों का बिल अधिक रहने के कारण देर रात तक कामकाज हुआ। सभी कोषागारों में राज्यकर्मियों के नये वेतनमान के बकायों का बिल का तेजी से भुगतान हुआ। हालांकि जिन कर्मचारी-अधिकारियों का योजना मद से वेतन भुगतान होता है, उन्हें बकाये का भुगतान नहीं मिला। प्रारंभिक सूचना के मुताबिक चालू वित्तीय वर्ष योजना मद में कुल करीब 58 सौ करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। गैर योजना मद में लगभग हाार करोड़ रुपये खर्च होने की सूचना है। मार्च के अंतिम सप्ताह में निकासी का ग्राफ तेजी से बढ़ा।ड्ढr बैंकों में राशि जमा करने की मनाही और राज्यपाल सैयद सिब्ते राी के सलाहकारों के कड़े रुख के चलते बड़ी राशि सरंडर हुई है। कम से कम पांच हाार करोड़ रुपये सरंडर होने की उम्मीद बतायी जा रही है। राष्ट्रपति शासन और चुनाव आचारसंहिता के कारण कई योजनाओं की राशि खर्च नहीं हो सकी। राशि कम खर्च होने के चलते सरकार के खजाने की स्थिति सरप्लस रही।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खजाने से निकला 900 करोड़