अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुस्लिम देशों के अफसरों ने किए रामलला के दर्शन

राष्ट्रीय सुरक्षा अकादमी के 16 सदस्यीय अन्तर्राष्ट्रीय सैन्य दल के अफसरों ने मंगलवार को अयोध्या का भ्रमण किया। वरिष्ठ सैन्य अफसरों ने अयोध्या में रामलला के दर्शन किए। दल में शामिल बंग्लादेश के ब्रिगेडियर सुहेल अहमद और अफगानिस्तान के ब्रिगेडियर अब्दुल वसीम ने भी रामलला के दर्शन किया। रामलला का दर्शन करने के बाद यह दल शाम को लखनऊ के लिए रवाना हो गया। एनडीए नई दिल्ली का 16 सदस्यीय अन्तर्राष्ट्रीय दल मंगलवार को यहाँ हवाई पट्टी पर अपराह्न् करीब ढाई बजे वायु सेना के हेलीकाप्टर से पहुँचा। मुख्य विकास अधिकारी गौरव दयाल, एडीएम सिटी दिव्य प्रकाश गिरि, एसपी सिटी गोपेशनाथ खन्ना ने दल की आगवानी की। इसके बाद यह दल हवाई पट्टी से सीधे डोगरा रेजीमेंट सेन्टर के लिए रवाना हो गया। डोगरा में सैन्य अफसरों ने अध्ययन दल का स्वागत किया। इसके बाद अन्तर्राष्ट्रीय अध्ययन दल ने यहाँ दोपहर का भोजन किया। लंच के बाद भारत सरकार के संयुक्त सचिव अशोक कुमार गुप्त के नेतृत्व में अन्तर्राष्ट्रीय अध्ययन दल सीधे अयोध्या भ्रमण पर पहुँचा। अयोध्या भ्रमण पर आए अन्तर्राष्ट्रीय अध्ययन दल ने रामलला का दर्शन किया। दल में भारतीय थल सेना के ब्रिगेडियर गौतम मूर्तिमा, राकेश, पीके गोस्वामी, ए.एस. मण्डल, गुरमीत सिंह, ए.के. सागर, वायु सेना के कमान्डिंग आफीसर ए.के. वादी, शिव सागर, बी.एस. मेनन व आईपीएस आरपी सिसौदिया, आस्ट्रेलिया के पी.के. पिल्लेपिड सहित बंग्लादेश के ब्रिगेडियर सुहेल अहमद, मालदीव के कर्नल मो.इब्राहिम और अफगानिस्तान के ब्रिगेडियर अब्दुल वसीम ने भी रामलला के चरणों में माथा टेका। बंग्लादेश और अफगानिस्तान के सैन्य अफसरों ने रामलला के चरणों में नमन करते हुए चरणामृत लिया और चंदन लगवाया। अन्तर्राष्ट्रीय अध्ययन दल का नेतृत्व कर रहे भारत सरकार के संयुक्त सचिव अशोक कुमार गुप्त ने ‘हिन्दुस्तान’ को बताया कि उन लोगों के यहाँ आने का मकसद अयोध्या का दर्शन करना था। उन्होंने कहा कि अयोध्या धार्मिक और ऐतिहासिक रूप में काफी महत्वपूर्ण है, इसलिए यहाँ का अध्ययन किया जा रहा है। एसपी सिटी गोपेशनाथ खन्ना ने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय अध्ययन दल का यहाँ आने का उद्देश्य अयोध्या दर्शन रहा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुस्लिम देशों के अफसरों कारामलला दर्शन