अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एटमी डील देश की नई पहचान का प्रतीक : सेन

अमेरिका में भारत के राजदूत रोनन सेन ने अमेरिका के साथ एटमी डील को दुनिया में भारत की नई पहचान की संज्ञा देते हुए कहा है कि भारत के साथ असैनिक परमाणु सहयोग के मुद्दे पर रूस, यूरोप और अन्य देशों के बीच पूर्ण सहमति बन चुकी है। वुडरो विल्सन सेंटर के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की सालाना बैठक में शिरकत करते हुए सेन ने कहा कि भारत-अमेरिकी परमाणु सहयोग समझौते ने मीडिया का खासा ध्यान खींचा है क्योंकि यह न सिर्फ दो देशों के बीच नए संबंधों का अहम प्रतीक है, बल्कि विश्व में भारत की नई हैसियत को भी पेश करता है। उन्होंने कहा, ऐसा नहीं है कि इस डील से भारत और अमेरिका सैन्य सहयोगी हो जाएंगे, बल्कि इसे दोनों के बीच सामरिक सहयोग के रूप में देखा जाना चाहिए। सेन ने कहा कि लोकतांत्रिक देश होने के नाते स्वाभाविक रूप से दोनों के बीच कुछ मुद्दों पर मतभेद हैं क्योंकि हम अपने सिांतों का बलिदान नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि परमाणु ऊर्जा, रक्षा और अंतरिक्ष जैसे क्षत्रों में आपसी सहयोग केवल पारस्परिक विश्वास और दीर्घकालीन सामरिक दृष्टि पर ही आधारित हो सकता है। सेन ने भारत और अमेरिका पर मंडराते परमाणु आतंकवाद के खतरे का जिक्र करते हुए कहा दोनों ही मुल्क विश्व में लोकतांत्रिक स्थापनाआें के प्रतीक हैं और भारत लंबे समय से आतंकवाद से जूझ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एटमी डील देश की नई पहचान का प्रतीक : सेन