अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निधि झा ने कोर्ट में आत्मसमर्पण किया

बहुचर्चित बाढ़ राहत घोटाले के किंग-पिंग संतोष कुमार झा की कथित पत्नी निधि झा मंगलवार को निगरानी की विशेष अदालत में आत्मसम्पर्ण कर दिया। इसके साथ ही आरोपित निधि झा ने अपनी नियमित जमानत की अर्जी भी दायर की।ड्ढr ड्ढr निगरानी के विशेष न्यायाधीश सुनील कुमार पनवार ने निधि झा की जमानत अर्जी को खारिज कर दिया और न्यायिक हिरासत में लेते हुए 7 फरवरी तक के लिए बेउर जेल भेज दिया। निगरानी के विशेष लोक अभियोजक अजीत कुमार सिंह ने उनकी जमानत अर्जी का पुरजोर विरोध करते हुए कहा कि बाढ़ राहत घोटाले को मामला निधि झा के फरार रहने के कारण लंबित चल रहा था। विशेष अदालत उनके खिलाफ गैर जमानतीय वारंट जारी कर रखा था। आरोपित निधि झा बाढ़ राहत घोटाले की प्राप्त राशि को संतोष कुमार झा के साथ मिलकर गबन किया है। केनरा बैंक एक्जीबिशन रोड शाखा में संतोष कुमार झा के पहचान पर इनका खाता खोला गया था। इसी खाता में 27 जुलाई 2004 से लेकर अप्रैल 05 तक 1 करोड़ लाख रुपया जमा किया गया। यह राशि घोटाले के समय जमा किया गया था। इसी खाता से लाख रुपया निकाल कर यमुना एपार्टेमेण्ट बोरिंग रोड में दो फ्लैट निधि झा ने अपने नाम से खरीदा।निधि झा मूलत: मधुबनी जिले के झंझारपुर थाना के कपसिया गांव की निवासी है। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो ने 8 अप्रैल 06 को उसके खिलाफ आरोप पर दायर किया था। फ्लैट की खरीद के कागजात में संतोष कुमार झा की पत्नी निधि झा बताया गया है। जबकि निधि झा की शादी नहीं हुई है। विशेष अदालत में आत्म सम्र्पण करने आयी निधि झा के साथ संतोष कुमार झा भी अदालत आए थे। विदित है कि बाढ़ राहत घोटाले के मामले में पूर्व डीएम डा. गौतम गोस्वामी, राजद सांसद अनिरुद्ध प्रसाद उर्फ साधू यादव समेत कई अभियुक्त है। जिन पर ब्यूरो की टीम ने आरोप पत्र दायर कर चुकी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निधि झा ने कोर्ट में आत्मसमर्पण किया