DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली के आधार पर हो

भोपाल (एजेंसी)। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देश में प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों के चुनाव (प्रत्यक्ष प्रणाली) के आधार पर कराने की आवश्यकता जताते हुए बुधवार क ो कहा कि इसके लिए सभी राजनैतिक दलों को सकारात्मक रूख प्रदर्शित करना चाहिए।ड्ढr चौहान ने यहां यूनीवार्ता से कहा कि इसके साथ ही लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव एकसाथ कराए जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बार-बार चुनाव आचार संहिता लागू होने से विकास कार्यों में बहुत अडचनें पैदा होती हैं। एकसाथ लोकसभा और विधानसभाओं के चुनाव हो जाने के बाद केंद्र और राज्य सरकारों को बगैर किसी बाधा के पांच वर्ष तक बेहतर ढंग से कार्य करने का अवसर मिल सकता है।ड्ढr उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार को रोकने के लिए चुनाव के दौरान प्रचार कार्य और निर्वाचन से जुड़े विभिन्न व्यय सरकार को ही उठाना चाहिए।उन्होंने कहा कि चुनावी चंदा देश में भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा कारण है। इस पर रोक लगाने के लिए आवश्यक है कि निर्वाचन संबंधी राजनीतिक दलों के व्यय सरकार वहन करे। उन्होंने कहा कि इसके लिए भी विभिन्न राजनीतिक दलों को पहल करना चाहिए।ड्ढr भाजपा नेता ने कहा कि वह अपनी इन मांगों को लेकर शीघ्र ही एक अभियान शुरू करेंगे। इसमें बुद्विजीवियों और राजनेताओं की मदद भी ली जाएगी। ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री के चुनाव प्रत्यक्ष प्रणाली के आधार पर हो