DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हर्बल के बारे में जानना है,दिलकुशा आइए

पीपल का पत्ता यौन रोगोंके उपचार में काम आता है। गुड़हल का फूल बालों की समस्याएँ दूर करने में लाभदायक है। नीम की पत्ती चर्म रोगों में मुफीद रहती है। हर्बल उत्पादों से जुड़ी ऐसी जानकारियों का खजाना अब लोगों को दिलकुशा गार्डेन में नवनिर्मित हर्बल गार्डेन में मिलेगा। बुधवार को पार्क का उद्घाटन मध्य कमान के सेनाध्यक्ष ले.जनरल आेपी नंद्रजोग ने किया।ड्ढr छावनी परिषद के अधिशासी अधिकारी पी डेनियल ने बताया कि प्राइवेट पब्लिक पार्टनरशिप की योजना के तहत मध्य कमान रक्षा सम्पदा विभाग के अधीन लखनऊ छावनी परिषद की जमीन पर बना यह पहला हर्बल पार्क है। लखनऊ छावनी परिषद ने तीन एकड़ क्षेत्र में बनने वाले हर्बल गार्डेन को बनाने व देखरेख का जिम्मा पाँच सालों के अनुबंध पर नेस्ट जेन बायोफर्टिलाइजर एण्ड एरोमा प्रोडक्ट लिमटेड संस्था को सौंपा है। फिलहाल लगभग एक एकड़ जमीन पर हर्बल पार्क बन चुका है।ड्ढr पार्क का विस्तार करके इसे अतिरिक्त दो एकड़ के क्षेत्र में और बढ़ाया जाएगा। विस्तार योजना के अन्तर्गत पार्क में लोगों के लिए हर्बल दवाइयाँ, हर्बल जूस, हर्बल तेलों का मसाज पार्लर, कैफेटेरिया, योग केन्द्र, रीडर्स क्लब की सुविधाएँ भी उपलब्ध कराई जाएँगी। यहाँ हर्बल खेती करने के तरीके भी बताए जाएँगे। इसके साथ ही दिलकुशा गार्डेन में हुए सौन्दर्यीकरण के अन्तर्गत फौव्वारा, बच्चों के झूले, पाथ वे, रंगीन फूलों से सजे बागीचे भी बनाए गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: हर्बल के बारे में जानना है,दिलकुशा आइए