DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लोहियापथ मामले में कार्रवाई जल्द

लोहियापथ निर्माण में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ जल्द ही कार्रवाई होगी। इस मामले में विजयशंकर पाण्डेय कमेटी की जाँच रिपोर्ट पर विशेषज्ञ समिति और मुख्यमंत्री की स्वीकृति की मुहर लग गई है। जाँच में करोड़ों के दुरुपयोग, दूरगामी योजना न बनाने और आमजन को सुविधा देने के बजाए लोगों की दिक्कतें बढ़ाए जाने जैसे आरोप सही साबित हुए हैं। विशेषज्ञ समिति की रिपोर्ट में निर्माण की गुणवत्ता ठीक मिली है पर टाइल्स के उपयोग को गलत बताया गया है। प्रमुख सचिव लोक निर्माण रवीन्द्र सिंह के मुताबिक रिपोर्ट अब कार्रवाई के लिए तैयार है। दो तीन दिन में सभी आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट जारी कर दी जाएगी।ड्ढr यह रिपोर्ट पिछले साल 20 अगस्त को शासन को सौंपी गई थी। जाँच करने वाली कमेटी में कमिश्नर विजयशंकर पाण्डेय, लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता, मुख्य तकनीकी परीक्षक और आईआईटी कानपुर के विशेषज्ञ शामिल थे। रिपोर्ट में पिछली सरकार के लोक निर्माण मंत्री, तत्कालीन प्रमुख सचिव लोक निर्माण, राज्य सेतु निगम के तत्कालीन प्रबंध निदेशक और प्रोजेक्ट से जुड़े अन्य लोगों व जिला प्रशासन के अधिकारियों को गड़बड़ी का दोषी पाया गया था। इसमें से खासतौर पर 10 करोड़ रुपए के गबन की बात थी। इसमें महँगी दरों पर रेलिंग की खरीद, मिट्टी की पटाई में भुगतान, बुलडोजरों के पेमेंट और निर्माण के स्तर पर अलग-अलग मदों में किए भुगतानों की गड़बड़ियाँ शामिल थीं। पाण्डेय कमेटी की यह रिपोर्ट बीते पाँच महीनों से नौकरशाही के बीच झूलती रही। यह रिपोर्ट पीडब्लूडी के प्रमुख सचिव को सौंपी गई थी। उनके अध्ययन के बाद इसे आईआईटी कानपुर के प्रोफेसरों वाली विशेषज्ञ समिति को भेजा गया। वहाँ से हरी झंडी मिलने पर यह रिपोर्ट मुख्यमंत्री कार्यालय गई और अब रिपोर्ट पर कार्रवाई करने की संस्तुतियों को अनुमति मिली है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लोहियापथ मामले में कार्रवाई जल्द