DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महर्षि महेश योगी का हॉलैंड में निधन

संतुलित जीवन शैली से जुड़ी ध्यान और योग की भारतीय पारंपरिक विधा से पश्चिमी देशों को परिचित कराने वाले योग गुरु महर्षि महेश योगी का मंगलवार की देर रात हालैंड के एम्सटर्डम स्थित उनके आवास में निधन हो गया। उनके प्रवक्ता ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि वर्षीय महर्षि योगी ने एम्सटर्डम के पास छोटे से गांव व्लोड्राप में स्थित अपने आवास में मंगलवार की देर रात अंतिम सांस ली।ड्ढr ड्ढr प्रवक्ता ने बताया कि विश्वभर में प्रसिद्ध संगीतबैण्ड बीटल्स के गुरु रहे महर्षि योगी गत माह अपने संस्थान के अध्यक्ष पद से यह कहते हुए हट गए थे कि अब वह नि:शब्दता के क्षेत्र में काम करना चाहते हैं और तभी से उन्होंने मौन धारण कर लिया था। ध्यान और योग के माध्यम से मनुष्य जीवन को संतुलित जीवन का पाठ पढ़ाने वाले महर्षि योगी का जन्म मध्य भारत में हुआ था। वह अपने प्रारंभिक जीवन को बहुत रूचिकर नहीं मानते थे इसलिए उन्होंने इस बारे में कभी खुल कर बात नहीं की।ड्ढr ड्ढr अपनी विश्व यात्रा की शुरुआत 1में अमेरिका से करने वाले महर्षि योगी के दर्शन का मूल आधार था ‘जीवन परमआनंद से भरपूर है और मनुष्य का जन्म इसका आनंद उठाने के लिए हुआ है। प्रत्येक व्यक्ित में ऊर्जा, ज्ञान और सामथ्र्य का अपार भंडार है तथा इसके सदुपयोग से वह जीवन को सुखद बना सकता है।’ दुनियाभर में सुख-शांति और समृद्धि का संदेश देने वाले महर्षि योगी ने शिक्षा के प्रसार के लिए विश्वव्यापी स्तर पर स्कूल और विश्वविद्यालय खोले। इसके अलावा उन्होंने नेचुरल लॉ पार्टी की स्थापना कर इसके माध्यम से योग और अन्य वैदिक परंपराआें का प्रचार प्रसार किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महर्षि महेश योगी का हॉलैंड में निधन