अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नेपाल में धरा गया किडनी सरगना

भारत के कुख्यात किडनी रैकेट के मुख्य आरोपी डॉ. अमित कुमार को काठमांडू पुलिस की एक विशेष टीम ने गुरुवार को रक्सौल के पास नेपाली जंगल से गिरफ्तार कर लिया। नेपाली चैनल ‘नेपाल-वन’ पर नेपाल के गृह राज्यमंत्री राम कुमार चौधरी ने भी इस गिरफ्तारी की पुष्टि कर दी है। उन्होंने बताया कि कुमार को काठमांडू लाया जा रहा है। किडनी किंग के नाम जारी रेड कॉर्नर नोटिस के बाद काठमांडू पुलिस ने अमित के करीब पहुंचने का दावा किया था। गुड़गांव पुलिस की एक टीम नेपाल रवाना हो गई है। इस अखबार ने बुधवार को ही खबर दी थी कि अमित नेपाल में छिपा है। पुलिस सूत्रों ने द हिमालयन टाइम्स को आज शाम बताया कि डॉ. अमित कुमार को रक्सौल से 60 किलोमीटर दूर सौराहा के जंगल में स्थित एक रिसोर्ट से पकड़ा गया है। सूत्रों ने बताया कि डॉ. कुमार और उनका नेपाली सहयोगी मनीष सिंह के होटल वाइल्ड लाइफ कैंप के कमरा संख्या 6 में दिन के 10 बजे के करीब ठहरे होने का संदेश हुआ। जांच के कु छ देर बाद ही दोनों को अंग्रेजी दैनिक ‘द हिमालयन टाइम्स’ की एक प्रति पढ़ने को दी गयी, जिसके मुख्य पृष्ठ पर किडनी रैकेट और उसके मुख्य आरोपी के नेपाल में छिपे होने के बारे में खबर छपी थी। कुछ देर बाद दोनों ने अखबार में से उक्त खबर को काटकर अखबार रिसेप्शन पर वापस कर दिया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार डॉ. कुमार ने स्पोर्ट्स हैट और रंगीन चश्मा पहन रखा था। सूत्रों ने बताया कि इसके तुरंत बाद पुलिस टीम होटल पहुंची और वहां आए अतिथियों के बारे में छानबीन करने लगी। पुलिस ने रिसेप्शनिस्ट को डॉ. कुमार की फोटो दिखायी और पूछा कि इस तरह का आदमी किस कमरे में है। रिसेप्शनिस्ट ने सही पहचान कर कमरा बता दिया। इस बीच मनीष सिंह वहां से फरार हो गया था। इसके बाद पुलिस टीम कमरे में पहुंची और औपचारिक तौर पर कुमार को गिरफ्तार कर लिया। कुमार ने हथकड़ी लगाते वक्त भी किसी तरह का प्रतिरोध नहीं किया। काठमांडू में भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने इस बारे में किसी तरह की जानकारी से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि सामान्य परिस्थितियों में किसी भारतीय को गिरफ्तार करने पर नेपाली पुलिस दूतावास को सूचित करती है लेकिन इस बारे में ‘हमें किसी प्रकार की कोई सूचना नहीं आयी है।’ जब वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक उपेन्द्र कंठ अर्याल से संपर्क किया गया तो उन्होंने सौराहा से एक भारतीय की गिरफ्तारी की पुष्टि की। हालांकि उन्होंने कहा कि उसकी सही पहचान उससे पूछताछ के बाद ही तय हो पाएगी। किडनी किंग के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किए जाने के बाद मुरादाबाद, गुड़गांव, मुंबई पुलिस सहित देश विदेश की पुलिस की नजरें डा. अमित पर ही टिकी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नेपाल में धरा गया किडनी सरगना