DA Image
6 अप्रैल, 2020|8:13|IST

अगली स्टोरी

प्रदेश में बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं मिला

प्रदेश में कहीं से भी बर्ड फ्लू का कोई मामला प्रकाश में नहीं आया है। अभी तक भेजे गए सभी 6157 सैम्पल निगेटिव पाए गए हैं। फिर भी, एहतियाती कदम के रूप में मुर्गियों और अण्डों की दूसरे प्रदेशों से आमद पर रोक लगा दी गई है। बर्ड फ्लू से प्रभावित मुर्गियों को नष्ट करने (कलिंग) के लिए संवेदनशील 45 जिलों में टीमों का गठन करने के साथ ही सभी आवश्यक सामग्री रखवा दी गई है।ड्ढr प्रमुख सचिव पशुधन आरएम श्रीवास्तव ने यह जानकारी कृषि उत्पादन आयुक्त अनीस अंसारी द्वारा बर्ड फ्लू की स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित बैठक में दी। उन्होंने बताया कि वर्धमान से 10 हजार बर्डस बिचौलियों के माध्यम से ले आकर सीतापुर, शाहजहाँपुर तथा लखीमपुर खीरी में बेचे गए थे। सभी के सैम्पल पुणे स्थित प्रयोगशाला में जाँच के लिए भेजे गए थे जिसमें सभी नतीजे निगेटिव पाए गए। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी जनपदों के मुख्य चिकित्साधिकारियों तथा अधीक्षकों को बर्ड फ्लू के संक्रमण से बचाव की ट्रेनिंग दे दी गई है। कृषि उत्पादन आयुक्त ने पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. रुद्र प्रताप को शाहजहाँपुर जाकर जाँच करने तथा उस पशु चिकित्सक के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए हैं जिसने जिलाधिकारी से यह कहा था कि बर्डस को नष्ट करने की जरूरत नहीं है। बैठक में चिकित्सा-स्वास्थ्य, वन, पर्यावरण तथा सिंचाई आदि विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया।ड्ढr मालगाड़ी का डिब्बा पटरी से उतरा मुबई-हावड़ा लाइन बाधितड्ढr नैनी (सं.)। छिवकी यार्ड के समीप मालगाड़ी का एक डिब्बा पटरी से उतर जाने से मुम्बई-हावड़ा लाइन पर यातायात बाधित रहा। इससे लम्बी दूरी की कई गाड़ियाँ प्रभावित हुईं। अधिकारियों के देर से पहुँचने से काफी देर तक डिब्बे को हटाने का काम शुरू नहीं हो सका।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title: प्रदेश में बर्ड फ्लू का कोई मामला नहीं मिला