DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सड़क पर उतरे सचिवालयकर्मी

लंबित मांगों को पूरा कराने के लिए सचिवालयकर्मी गुरुवार को कामकाज छोड़ सड़क पर उतर गये। सुबह दस बजे से शाम पांच बजे तक कर्मचारियों ने नया सचिवालय परिसर में धरना देकर राज्य की अफसरशाही के खिलाफ जबरदस्त नारेबाजी की। नतीजतन विश्वेश्वरैया भवन, विकास भवन, सिंचाई भवन और मुख्य सचिवालय में सन्नाटा ही पसरा रहा। बिहार सचिवालय सेवा संघ ने 26 फरवरी से सामूहिक हड़ताल की भी धमकी दी है।ड्ढr ड्ढr दूसरी ओर पटना सचिवालय चतुर्थवर्गीय कर्मचारी संघ के सदस्यों ने भी काला बिल्ला लगाकर काम किया। बिहार सचिवालय सेवा संघ के बैनर तले आयोजित धरना की अध्यक्षता कर रहे अजय कुमार सिंह ने आरोप लगाया कि राज्यकर्मियों को 1से केन्द्रीय वेतनमान और भत्ता देने के अपने वादे को सरकार पूरा नहीं कर रही है। महासचिव अनिल कुमार सिंह ने कहा कि वित्त विभाग सहायक, सचिवालय सहायक और निजी सहायकों को केन्द्र के अनुरूप 6500-10500 रुपये का वेतनमान देने में रोड़ा अटका रहा है। धरना को कृष्णनन्दन शर्मा, रविन्द्र कुमार सिंह, ब्रह्मदेव यादव, रामायण ठाकुर, अखिल कुमार झा, भानु मोहन, अमरेन्द्र सिंह, केदार प्रसाद सिंह, विनोद पाठक, स्वराज प्रसाद शाही, नित्यानन्द सिंह और राधामोहन झा समेत अनेक कर्मचारी नेताओं ने संबोधित किया। उधर पटना सचिवालय चतुर्थवर्गीय कर्मचारी संघ के अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सिंह और सचिव रामानन्द सिंह ने भी चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों को द्वितीय एसीपी में 3050-450 रुपये का वेतनमान नहीं दिये जाने पर बेमियादी हड़ताल की धमकी दी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सड़क पर उतरे सचिवालयकर्मी