DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीआईजी ने दीं फायर अफसर को गालियाँ

सचिवालय के गेट नंबर सात पर शुक्रवार को विधानमंडल के दोनों सदनों का संयुक्त अधिवेशन शुरू होने से पहले खासा बावेला मच गया। हंगामा उस समय शुरू हुआ जब लखनऊ के डीआईजी रेंज ने वहाँ तैनात फायर अफसर, दरोगा व सुरक्षा दल के जवानों को जमकर गालियाँ सुनाईं। जवाब में वहाँ एकत्र हुए सचिवालय के वाहन चालकों और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी गुस्से में आ गए। डीआईजी चंद्रप्रकाश का इस संबंध में कहना है कि उन्होंने कोई गाली नहीं दी।ड्ढr सूत्रों का कहना है कि राष्ट्रीय लोकदल के नेता कोकब हमीद अपनी गाड़ी खुद चलाकर विधानसभा आए थे। उनका ड्राइवर गाड़ी में पीछे बैठा था। श्री हमीद ने अपना परिचय पत्र दिखाया जिस पर सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें पहचानकर सचिवालय के गेट नंबर सात से अंदर जाने दिया। इसी बीच, लखनऊ के डीआईजी रेंज चंद्र प्रकाश व अपर पुलिस अधीक्षक अरुण कुमार गुप्ता उधर से निकले। डीआईजी रेंज ने वहाँ ड्यूटी पर तैनात अग्नि शमन अधिकारी मुन्ना लाल से बिना प्रवेश पत्र के गाड़ी जाने देने के बारे में पूछा। उन्होंने सारी बात बता दी। उनकी बात सुनते ही डीआईजी ने गालियाँ देनी शुरू कर दीं। मुन्ना लाल ने सचिवालय के मुख्य सुरक्षा अधिकारी को लिखित शिकायत दी है।ा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: डीआईजी ने दीं फायर अफसर को गालियाँ