अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘द्रविड़, गांगुली की कमी खल रही है भारत को’

ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ब्रेट ली का मानना है कि युवा भारतीय टीम राहुल द्रविड़ और सौरभ गांगुली जैसे अनुभवी बल्लेबाजों के बिना स्ट्रगल करती नजर आ रही है। ली ने कहा, ‘युवाओं के लिए एकदम लय में आना हमेशा मुश्किल होता है। द्रविड़ और गांगुली ने इस समर में बहुत क्रिकेट खेला है और वे सत्र के शुरू से ही टीम में थे। नए लड़कों को लय में आने में कुछ तो समय लगेगा ही।’ टीम इंडिया के पिछले दो मैचों के प्रदर्शन की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, ‘हालांकि वे क्वालिटी प्लेयर हैं लेकिन वे अपने काम को सही अंजाम नहीं दे सके।’ ऑस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज ने कहा कि उनकी गेंदबाजी भारत के खिलाफ कल के मैच का की फेक्टर होगा। ली ने कहा, ‘हमारी पूरी गेंदबाजी आक्रमण बेहतर नजर आ रहा है। मैंने ब्रिसबेन में पांच विकेट लिए, नाथन ने सिडनी में ऐसा किया। जॉनसन भी अच्छे बैक-अप की भूमिका निभा रहे हैं। होप्स, हॉग, सायमंड्स और क्लार्क के रहते मेरे खयाल से टीम को गेंदबाजी में टीम को अच्छे विकल्प मिल जाते हैं।’ ली ने यह भी कहा कि उनके वनडे में विकेट लेने के अवसर टेस्ट से ज्यादा होते हैं। उन्होंने कहा, ‘वनडे में बल्लेबाज को रन बनाने की जल्दी होती है और यही कारण है कि विकेट मिलने के भी ज्यादा अवसर होते हैं। टेस्ट में आपको ज्यादा इंतजार करना पड़ता है। इसमें वेरिएशन प्रमुख हथियार होता है। आप स्लोअर, बाउंसर, सीम के साथ-साथ हमेशा नई-नई चीजें ट्राई करते रहते हैं।’ ली ने कहा कि उनकी किताब में सचिन तेंदुलकर विश्व क्रिकेट के बेस्ट बैट्समैन हैं। उन्हें विश्वास है कि मास्टर ब्लास्टर वनडे क्रिकेट में भी जल्द ही फॉर्म हासिल कर लेंगे लेकिन उम्मीद जताई कि शायद वे ऐसा हमारी टीम के खिलाफ न कर सकें।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘द्रविड़, गांगुली की कमी खल रही है भारत को’