अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

करंट से हुई मौत पर 5.37 लाख मुआवजा

उपभोक्ता संरक्षण राज्य आयोग ने महोबा में बिजली की हाई वोल्टेज लाइन के टूटने से झुलस कर मरे व्यक्ित के परिवारीजनों को मुआवजे के रूप में पाँच लाख 37 हजार रुपए देने का आदेश दिया है।ड्ढr आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति भँवर सिंह और सदस्य रघुनाथ प्रसाद ने जिला उपभोक्ता फोरम महोबा के निर्णय की पुष्टि करते हुए पावर कारपोरेशन को आदेश दिया है कि मृतक धर्मदास नायक के परिवारीजनों को मुआवजे के रूप में राशि दी जाय। सरकारी कर्मचारी धर्मदास नायक का महोबा जिले में पाठा रोड स्थित भाटीपुरा डिग्री कालेज के निकट घर था। उसने लो वोल्टेज (एलटी) लाइन से घरेलू कनेक्शन ले रखा था। घर के निकट 11 केवीए की हाई वोल्टेज (एचटी) लाइन भी गुजरती है जो एक दिन टूट कर एलटी लाइन पर गिरी जिसकी वजह नायक के घर की एलटी लाइन में हाई वोल्टेज करंट आ गया। उसने जैसे ही घर का दरवाजा खोला वह करंट से झुलस कर मर गया। उसके घरवालों ने जब उपभोक्ता संरक्षण की अदालत में मुआवजे के लिए परिवाद दाखिल किया तो बिजली विभाग की दलील थी कि एचटी लाइन जब उस क्षेत्र में खींची गई थी तब वहाँ कोई आबादी नहीं थी, लेकिन पिछले बीस वर्षो के दौरान उस क्षेत्र में कई मकान बन गए। इस वजह से इस घटना में विभाग का कोई दोष नहीं है और न ही बिजली विभागों की सेवाओं में कोई कमी है।ड्ढr आयोग ने पावर कारपोरेशन की सफाई को नहीं माना और कहा कि आबादी वाले क्षेत्र में जहाँ एचटी लाइनें पहले से हैं, उस क्षेत्र में ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए विद्युत उपभोक्ताओं की सुरक्षा के समुचित उपाय किए जाने चाहिए थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: करंट से हुई मौत पर 5.37 लाख मुआवजा