अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कैसे होगी माननीयों की विस के प्रवेश द्वार पर तलाशी

ऐसे तलाशी न लें कि विधायक को नागवार लगे द्य विधानसभा में शुक्रवार को काले गुब्बारे फोड़े जाने की घटना के मद्देनजर अबड्ढr विधायकों को तलाशी देनी होगी। शनिवार को कैबिनेट सेक्रेटरी की अध्यक्षता में हुई सचिवालय व विधानसभा सुरक्षा की बैठक में तय किया गया कि विधानसभा कार्यवाही में भाग लेने आए किसी विधायक की अगर तलाशी लेने की जरूरत पड़ती है तो पूरी शालीनता के साथ जाँच होगी। इस बैठक में पुलिस महानिदेशक विक्रम सिंह और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक लखनऊ के अलावा गृह विभाग के अधिकारी मौजूद थे। बैठक में तय किया गया कि भीतर आने वाली गाड़ियों की ठीक से पड़ताल की जाएगी। मेटल डिटेक्टर का इस्तेमाल किया जाएगा। अधिकारियों को इस बात की हिदायत दी गई है कि तलाशी की जरूरत पड़े तो उसमें विनम्रता बरती जाए और कोई ऐसी हरकत न हो जो विधायकों को नागवार गुजरे। एसएसपी लखनऊ को निर्देश दिए गए हैं कि वे इस बारे में सचिव सचिवालय प्रशासन को अपनी रिपोर्ट देंगे।ड्ढr सदन में गुण्डई-अराजकता कतई बर्दाश्त नहीं: बसपा द्यबहुजन समाज पार्टी ने विधानसभा अध्यक्ष सुखदेव राजभर के अपरिहार्य होने पर विधानसभा सदस्यों की सुरक्षा कराए जाने संबंधी निर्णय का स्वागत किया है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के सहकारिता मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा कि समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने जिस तरह विधानसभा में शुक्रवार को गुब्बारे लाकर अशोभनीय आचरण किया उसकी जितनी निन्दा की जाए, कम है। उन्होंने कहा कि असल में, विपक्ष के पास राज्य सरकार के खिलाफ विरोध करने के लिए कोई गंभीर मुद्दा नहीं है इसलिए अब वह गुब्बारे उड़ाने जैसा बच्चों का खेल खेल रहे हैं। लेकिन सदन बच्चों के खेल का मैदान या तमाशा नहीं है। बसपा सरकार विधानसभा की गरिमा और सदस्यों की सुरक्षा के लिए हर जरूरी कदम उठाएगी और सदन को गुण्डे-माफियाओं की अराजकता का केन्द्र बनाने की कोशिशों को कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। प्रदेश बसपा अध्यक्ष ने मुख्य विपक्षी दल सपा पर आरोप लगाया कि उसके सदस्यों ने सारी संवैधानिक मर्यादाओं और सदन की परम्पराओं को ताक पर रख कर गुण्डागर्दी और अराजकता का माहौल पैदा करने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि विधानसभा के इतिहास में यह पहली घटना है जिसमें गैस भरे गुब्बारों का प्रयोग किया गया। इससे साफ है कि इस तरह किसी दिन विषैली गैस लाकर कोई वीभत्स काण्ड भी किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि सदन की गरिमा बनाए रखने और गुण्डे-माफिया की अराजकता पर अंकुश लगाने के लिए विधानसभा अध्यक्ष जो भी कदम उठाएँगे बसपा उसका स्वागत करेगी। उनको पूरा सहयोग करेगी।श्री मौर्य ने कहा कि सुरक्षाकर्मी जहाँ आवश्यक समेझेंगे वहीं तलाशी लेंगे। सवाल विधानसभा की सुरक्षा का है: स्पीकर द्य विधानसभाध्यक्ष सुखदेव राजभर ने शनिवार को बातचीत में कहा कि यह विधानसभा की सुरक्षा का मसला है। जब सपा के सदस्य गैस से भरे काले गुब्बारे गुप-चुप ढंग से सदन में लाकर उन्हें फोड़ सकते हैं, तब ऐसे धमाकों के बीच कभी कोई और घटना भी हो सकती है। सभी जनप्रतिनिधियों की सुरक्षा का सवाल है। आखिर हवाई यात्रा करते समय सभी जनप्रतिनिधि हवाई अड्डे पर प्रवेश के समय अपनी तलाशी देते हैं। इसलिए सुरक्षा की दृष्टि से सदस्यों को विधानभवन में प्रवेश करते समय भी तलाशी देने में आपत्ति नहीं होनी चाहिए।ड्ढr उन्होंने स्पष्ट किया कि सदस्यों के सम्मान में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। केवल आवश्यकता पड़ने पर विधानभवन के गलियारे के प्रवेश द्वार पर उनकी तलाशी ली जा सकती है।ड्ढr श्री राजभर ने कहा कि गत वर्ष नेता विपक्ष मुलायम सिंह यादव ने भी सदन में यह बात उठाई थी कि विधान भवन के गलियारे में संदिग्ध व्यक्ित घूमते हैं। विधानसभाध्यक्ष ने कहा कि देश में बढ़ रही आतंकी घटनाओं को देखते हुए विधानसभा मण्डप के अंदर और बाहर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की जानी चाहिए। अध्यक्ष ने कहा कि आगामी 12 फरवरी को कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में यदि इस व्यवस्था के बारे में कोई बात उठती है तब सभी दलों के नेताओं से इस बारे में विचार-विमर्श कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी दलों का इस व्यवस्था का विरोध करने बजाय सहयोग करना चाहिए। जरूरत पड़ी तो सदन में इस निर्णय का विरोध करेंगे: सपाड्ढr द्यसमाजवादी पार्टी विधानमण्डल दल के मुख्य सचेतक अम्बिका चौधरी ने कहा कि जहाँ संसद और जम्मू कश्मीर विधानसभा में आत्मघाती दस्तों ने हमले किए, वहाँ प्रवेश के समय निर्वाचित जनप्रतिनिधियों की तलाशी नहीं ली जाती। उत्तर प्रदेश विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण के विरोध में पहली बार काले झण्डे नहीं दिखाए गए हैं। काले गुब्बारे भी दिखाना कोई बड़ी बात नहीं है। सपा नेता ने कहा कि मुख्यमंत्री मायावती रोज-रोज ऐसे बयान देती हैं कि मेरी हत्या हो जाएगी। पता नहीं उन्होंने क्या किया है कि उनकी हत्या हो जाएगी। लेकिन उनकी निजी मनोवैज्ञानिक स्थितियों पर विधानसभा को अपमानित करने का काम निंदनीय है। विधानसभा के गेट पर सदस्यों की तलाशी का निर्णय न केवल अनुचित है बल्कि गैरसमझदारी का है। तलाशी का निर्णय गलत: कांग्रेस द्य कांग्रेस विधान मण्डल दल के नेता प्रमोद तिवारी ने विधायकों की तलाशी कराने के निर्णय को गलत करार दिया है। उन्होंने कहा कि यह निर्णय विधायकों के सम्मान और मर्यादा के विपरीत है। वह इस बारे में विधान सभा अध्यक्ष से बातचीत करेंगे। हालाँकि श्री तिवारी ने विधान सभा के अन्दर विधायकों द्वारा गुब्बारा ले जाने के काम को भी गलत बताया। उन्होंने कहा कि विधायकों को भी अपनी गरिमा का ख्याल रखना चाहिए।ड्ढr स्थितियाँ समझ कर प्रतिक्रिया देगी: भाजपाड्ढr द्यभाजपा विधान मण्डल दल के नेता ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि सदस्यों की तलाशी के मसले पर अध्यक्ष के आदेश पर वह अभी कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं करेंगे। वह पहले अध्यक्ष से बातचीत कर उनकी मंशा जानेंगे और यह भी देखेंगे कि उनके आदेश का व्यावहारिक रूप क्या होता है। इसलिए अभी अध्यक्ष के आदेश पर सार्वजनिक टिप्पणी करना उचित नहीं है। यह निर्णय पुलिस या शासन का नहीं है बल्कि अध्यक्ष का है। ड्ढr द्य विधान भवन में प्रवेश के समय विधायकों की जाँच के सम्बन्ध में राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना सिंह चौहान ने कहा कि हमारे दल के विधायक तलाशी नहीं देंगे। अगर तलाशी ली गई तो हम वहीं धरने पर बैठेंगे। हमारी पार्टी में न कोई अपराधी है न कोई गैर कानूनी तरीके से कतलाशी ली तो धरने पर बैठेंगे: रालोदड्ढr द्य विधान भवन में प्रवेश के समय विधायकों की जाँच के सम्बन्ध में राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महामंत्री मुन्ना सिंह चौहान ने कहा कि हमारे दल के विधायक तलाशी नहीं देंगे। अगर तलाशी ली गई तो हम वहीं धरने पर बैठेंगे। हमारी पार्टी में न कोई अपराधी है न कोई गैर कानूनी तरीके से काम करता है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में जनप्रतिनिधि के अधिकारों में अगर कोई बाधा डाली गई तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विधायकों के स्वाभिमान पर आँच आई तो रालोद इसका नियमानुसार विरोध करेगी।ड्ढr ाम करता है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में जनप्रतिनिधि के अधिकारों में अगर कोई बाधा डाली गई तो उसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। विधायकों के स्वाभिमान पर आँच आई तो रालोद इसका नियमानुसार विरोध करेगी।ड्ढr ड्ढr ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कैसे होगी माननीयों की विस के प्रवेश द्वार पर तलाशी