DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत लाया गया किडनी सौदागर

सीबीआई की विशेष टीम काठमांडू से डा. अमित को लेकर इंडियन की उड़ान संख्या आई सी 814 से शाम के छह बजकर 55 मिनट पर इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंची।ड्ढr ड्ढr हालांकि नेपाल पहले विदेशी मुद्रा की हेराफेरी की मामले में उसके खिलाफ अपने यहां कानूनी कार्रवाई करना चाहता था। लेकिन बाद में, जैसा नेपाल के गृह मंत्री राम कुमार चौधरी ने कहा, दोनों देशों की सरकारों में बनी सहमति के आधार पर किडनी किंग को भारत के हवाले कर दिया गया। डॉ. अमित को भारत को सौंपने के लिए प्रत्यर्पण के बजाय डिपोर्टेशन की प्रक्रिया अपनाई गई। डॉ. अमित को एयरपोर्ट से सीधे सीबीआई मुख्यालय ले जाया गया, जहां पूछताछ शुरू हो गई है। उसे रविवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया जाएगा। इस बीच, नेपाल में डॉ. अमित के भाई डॉ. जीवन की सरगर्मी से तलाश की जा रही है। नेपाल पुलिस ने डॉ. जीवन के दो मोबाइल सिमकार्ड भी बरामद होने का दावा किया है। उस पर और उसके साथियों पर लगभग छह सौ लोगों के गुर्दे निकाल लेने का आरोप है। यह मामला अब सीबीआई के हाथों में है।ड्ढr ड्ढr सीबीआई ने शनिवार की रात हरियाणा सरकार के आग्रह पर अमित के विरुद्ध आईपीसी और मानव अंग प्रत्यर्पण कानून के तहत मामला दर्ज कर लिया है। उधर नेपाल के राजस्व विभाग ने कहा कि विदेशी मुद्रा संबंधी जांच यहां जारी रहेगी। गौरतलब है कि गुरुवार की देर रात अमित को नेपाल में चितवन के एक होटल से पुलिस ने गिरफ्तार किया था। शुक्रवार की सुबह उसे काठमांडू लाया गया था, जहां प्रेस कांफ्रेंस में नेपाली अधिकारियांे ने बताया कि डॉ. अमित ने 300 किडनी निकालने की बात स्वीकारी। उसने पुलिस को खुद को छोड़ने के लिए एक करोड़ रुपये की पेशकश की थी। डॉ. अमित कनाडा से 13 दिसंबर को नेपाल आया था और अगले दिन ही वह सड़क के रास्ते भारत चला गया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत लाया गया किडनी सौदागर