अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फोन नेटवर्क करेगा पर्दाफाश

सीबीआई को उम्मीद है कि टेलीफोन का नेटवर्क किडनी कांड के मुख्य अभियुक्त डॉ. अमित के गुर्दागर्दी के रैकेट का पर्दाफाश करने में मददगार होगा। इस बीच, सीबीआई ने फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ सोमवार को गुड़गांव में नर्सिग होम, गेस्ट हाउस और अमित के घर सहित छह स्थानों पर छापे मारे। सूत्रों ने बताया कि कुछ ऐसे सबूत टीम के हाथ लगे हैं जो जांच में काफी मददगार साबित होंगे। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक डॉ. अमित ने खुलासा किया है कि नेपाल के चितवन गेस्ट हाउस से उसने कनाडा में रह रहे अपने बीवी-बच्चे से कई बार बात की थी लेकिन इसके लिए अपना मोबाइल नहीं बल्कि पब्लिक बूथ का इस्तेमाल किया करता था। उसने यह भी माना है कि वह नोएडा और उसके बाद गुड़गांव में अपना प्राइवेट क्लीनिक चलाता था। नोएडा वाली कोठी से अपना काम धंधा समेट इन दिनों उसने गुड़गांव को ही अपना केंद्र बना लिया था। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि डॉक्टर के बयान की सच्चाई का पता लगाया जा रहा है। उसके पास से बरामद तीन सिम कार्ड (कनाडा, नेपाल और भारत) की डिटेल निकलवाई जा रही है। हालांकि जांच अधिकारी यह मान कर चल रहे हैं कि डॉ. अमित ने मोबाइल के रिकॉर्ड से कई नाम-पते डिलीट कर दिए होंगे। बावजूद इसके फोन के पुराने विवरण इकट्ठे किए जाएंगे ताकि कम से कम यह तो पता चल ही जाएगा कि वह किन-किन नंबरों पर बात किया करता था।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फोन नेटवर्क करेगा पर्दाफाश