DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राशन-किरासन का कोटा बढ़ाएं

बीपीएल आबादी का पेट भरने और उनके घरों में रोशनी के लिए बिहार ने केन्द्र से प्रतिमाह दो लाख टन अतिरिक्त अनाज और 2.36 करोड़ लीटर अतिरिक्त किरासन मांगा है। बिजली, राशन और किरासन का कोटा बढ़वाने के लिए सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में राज्य का सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल पेट्रोलियम मंत्री मुरली देवड़ा, खाद्य मंत्री शरद पवार और ऊर्जा मंत्री सुशील कुमार शिंदे से नई दिल्ली में मिला। बिजली कोटे में 300 मेगावाट की बढ़ोतरी, बाढ़-कहलगांव स्थित एनटीपीसी के निर्माणाधीन व प्रस्तावित बिजलीघरों में अधिक आवंटन और कहलगांव इकाई से 260 मेगावाट की कटौती के पुनर्बहाली की मांग हुई।ड्ढr ड्ढr केन्द्र ने मांगों पर जल्द ही ठोस निर्णय लेने का भरोसा दिलाया। दस प्रमुख राजनीतिक दलों की ओर से सौंपे ज्ञापन में बिजली, अनाज और किरासन की जरूरत और उपलब्धता का हवाला देकर एकतरह से यह सवाल भी उठा है कि आखिरकार बिहार के साथ भेदभाव कब थमेगा? देवड़ा के साथ मुलाकात में मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली और एपीजी के उपभोग के मामले में पिछड़ा होने पर भी बिहार को बिजली की अच्छी स्थिति वाले राज्यों की तुलना में काफी कम किरासन मिलता है। दिल्ली में बीपीएल परिवारों को प्रति माह 22 लीटर जबकि गुजरात, महाराष्ट्र और गोवा जैसे विकसित राज्यों में 16-1लीटर किरासन मिल रहा है। वहीं राष्ट्रीय औसत 11.5 लीटर की अपेक्षा बिहार में प्रति परिवार सालाना लीटर किरासन की खपत है। राष्ट्रीय औसत 612 यूनिट की तुलना में बिहार में प्रति व्यक्ित सालाना बिजली खपत 85 यूनिट है। एलपीजी की प्रति व्यक्ित सालाना खपत 2.किलो. है जबकि राष्ट्रीय औसत किलो. है। इसलिए 6.रोड़ लीटर का मासिक कोटे में 34 प्रतिशत की बढ़ोतरी करते हुए रोड़ लीटर किरासन दिया जाए। नीतीश ने बताया कि बीपीएल परिवारों की संख्या बढ़कर 1.21 करोड़ हो गयी हैं जबकि केन्द्र से मात्र 65 लाख बीपीएल व अन्त्योदय परिवारों के लिए 35 किलो. के हिसाब से प्रतिमाह 2.28 लाख टन अनाज मिलता है। प्रतिनिधिमंडल में सुशील मोदी, विजेन्द्र यादव, सुचित्रा सिन्हा, ललन सिंह, राधामोहन सिंह, अब्दुल बारी सिद्दीकी, सदानन्द सिंह, महेश्वर सिंह, बद्रीनारायण लाल, विजयकांत ठाकुर आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राशन-किरासन का कोटा बढ़ाएं