DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांग्रेस ने दिग्गजों को उतारा

आपसी गुटबाजी और भितरघात से बचने के लिए कांग्रेस ने कर्नाटक में अपने प्राय: सभी दिग्गज नेताओं को लोकसभा चुनाव के मैदान में उतार दिया है। पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के कर्नाटक में सत्तारूढ़ नहीं हो पाने के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने भी अंदरूनी उठा पटक और भितरघात को मुख्य कारण माना था। विधानसभा चुनाव के नतीजों से सबक लेते हुए ही कांग्रेस ने इस बार अपने सभी दिग्गजों को चुनाव लड़ाने का फैसला किया ताकि सभी अपने क्षेत्रों में व्यस्त रहें और उन्हें दूसरों के यहां भितरघात का मौका नहीं मिले। विधानसभा चुनाव में पुत्र को टिकट नहीं दिए जाने से कुपित और बाद में पार्टी के टिकटों की बिक्री के आरोप लगाने के कारण महासचिव पद एवं कांग्रेस कार्य समिति की सदस्यता भी गंवाने वाली मार्ग्रेट अल्वा को भी इस बार उनके परंपरागत क्षेत्र उत्तर कन्नडा से उम्मीदवार बनाया गया है। मीडिया विभाग के अध्यक्ष वीरप्पा मोइली चिकबल्लापुर, पूर्व केंद्रीय मंत्री जनार्दन पुजारी दक्षिण कन्नडा, पूर्व मुख्यमंत्री एस बंगरप्पा शिमोगा, पूर्व केंद्रीय मंत्री सी के जाफरशरीफ उत्तर बंगलुरु, पूर्व मुख्यमंत्री धर्म सिंह बीदर और नौ बार लगातार विधायक चुने जाते रहे दलित नेता मल्लिकाजरुन खरगे गुलबर्गा से लोकसभा के लिए कांग्रेस के उम्म्ीदवार बनाए गए हैं। पिछले चुनाव में पूर्व प्रधानमंत्री एच डी देवेगौड़ा को शिकस्त देने वाली तेजेस्विनी इस बार बंगलुरु (गा्रमीण) में श्री देवेगौड़ा के पुत्र, पूर्व मुख्यमंत्री एच डी कुमार स्वामी का सामना करंगी। कांग्रेस ने मनमोहन सरकार के विश्वासमत प्रस्ताव का साथ देने वाले भाजपा के पूर्व सांसद एच टी संगलियान तथा मंजुनाथ कुन्नूर को भी क्रमश: बंगलुरु (सेंट्रल) तथा धारवाड़ से अपना उम्मीदवार बनाया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कांग्रेस ने दिग्गजों को उतारा