DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वायुसेना के इस ‘राजदूत’ का जवाब नहीं

जिन लोगों ने हॉलीवुड फिल्म ‘एयर फोर्स 1’ देखी है, उन्हें अंदाजा होगा कि अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष विमान में किस तरह की आधुनिक सुविधाएं होती हैं। लगभग एसी ही सुविधाओं और सुरक्षा प्रणालियों से लैस विमान अब भारतीय प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति की सेवा में भी उपलब्ध हैं। अमेरिका से करीब एक अरब डॉलर में खरीदे गए तीन बोइंग बिजनेस जेट विमानों में से पहले विमान का नाम ‘राजदूत’ रखा गया है जिसका उद्घाटन पांरपरिक पूजा के साथ राष्ट्रपति और तीनों सेनाओं की सुप्रीम कमांडर प्रतिभा देवी सिंह पाटिल ने यहां किया। इन विमानों को वायुसेना के विशेष कम्यूनिकेशन स्क्वॉड्रन में शामिल कर लिया गया। राजदूत राष्ट्रपति को लेकर अपनी पहली यात्रा के लिए पूवरेत्तर के लिए रवाना हो गया। विमान की विशेषता : यह बोइंग 737-700 वर्ग की नई पीढ़ी का विमान है। अन्य यात्री विमानों से भिन्न इस विमान के कॉकपिट में हैड अप डिस्प्ले की व्यवस्था है यानी विमान की विभिन्न प्रणालियों से मिलने वाली जानकारी कॉकपिट के पारदर्शी शीशे पर पायलट के सामने होती है, जिससे पायलट को हर यंत्र पर नजर रखने के लिए गर्दन घुमाने की जरूरत नहीं होती। दुश्मन के मिसाइल हमले से निपटने के लिए इस विमान में आत्मरक्षा प्रणालियां जसे- फ्लेयर्स (आग के गोले) दागने, दुश्मन के संचार तंत्र को जाम करने के जामर, दूसर विमान से टकराने से बचने के लिए टीकास, घुसपैठिये को पकड़ने वाली प्रणाली, उपग्रह आधारित संचार व्यवस्था आदि तो हैं ही। महत्वपूर्ण यात्री के आराम के लिए बेडरूम और तमाम सुविधाएं भी उपलब्ध हैं। इसे प्रधानमंत्री का उड़ता हुआ कार्यालय कहा जा सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वायुसेना के इस ‘राजदूत’ का जवाब नहीं