अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

निठारी से जुड़े किडनी सरगना के तार

किडनी प्रत्यारोपण कांड में उस वक्त नया मोड़ आ गया जब मंगलवार को निठारी पीड़ितों में से एक के पिता ने यह दावा किया कि उसने किडनी कांड के सरगना अमित कुमार को नोएडा स्थित मोनिंदर सिंह पंधेर के आवास पर कई बार देखा है। निठारी में बलात्कार के बाद हत्या का शिकार बनी कई लड़कियों में से एक के पिता झब्बू लाल ने दावा किया है कि उन्होंने अमित कुमार को पंधेर के नोएडा में सेक्टर-31 स्थित डी-5 आवास पर देखा था। वर्ष 2006 के अंतिम दिनों में इस आवास के पास एक नाले से बच्चों और महिलाओं के 1ंकाल बरामद किए गए थे। झब्बू लाल ने बताया, जसे ही अमित कुमार का फोटो टेलीविजन पर दिखाया गया, मैंने तुरंत उसे पहचान लिया। मैंने उसे तीन बार पंधेर के आवास के पास एक काली गाड़ी में देखा था। एक बार मैंने उसे फ्रेंच कट दाढ़ी में भी देखा और दो बार बिना दाढ़ी के देखा था। झब्बू पंधेर के घर वाली लेन में स्थानीय निवासियों के कपड़ों पर प्रेस करता है। उधर किडनी प्रत्यारोपण कांड के सरगना अमित कुमार के प्रमुख सहयोगी सरज कुमार को 14 दिन की सीबीआई हिरासत में भेजे जाने से इस खुफिया एजेंसी को इस रैकेट को सुलझाने में मदद की उम्मीद बढ़ गई है। इस बीच सीबीआई ने अमित कुमार के लिए काम करने वाली नर्स लिंडा के घर की तलाशी ली है। सीबीआई ने दक्षिण-पश्चिम दिल्ली के महिपालपुर इलाके में लिंडा के घर की तलाशी ली। राम मनोहर लोहिया अस्पताल से जुड़ी लिंडा को गुड़गांव पुलिस द्वारा 31 जनवरी को गिरफ्तार करने के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। राम मनोहर लोहिया अस्पताल में काम करने से पहले मणिपुर की लिंडा ने अमित कुमार के लिए एक वर्ष से भी अधिक समय तक कार्य किया था। अमित उसे प्रति महीने 25 से 30 हजार रुपये का भुगतान करता था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: निठारी से जुड़े किडनी सरगना के तार