DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राज की गिरफ्तारी का खेल-घंटों में बेल

ेन्द्र से हरी झंडी मिलते ही महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) के अध्यक्ष राज ठाकरे और समाजवादी पार्टी के नेता अबू आजमी को गिरफ्तार कर लिया गया। लेकिन जाहिर तौर पर मुंबई पुलिस द्वारा अदालत में मजबूत केस न बनाने के कारण चंद घंटों के भीतर दोनों जमानत पर आजाद हो गए। उधर, शिवसेना ने राज की गिरफ्तारी को असफल राजनीतिक प्रयोग करा दिया है।ड्ढr ड्ढr दोनों नेताओं पर भड़काऊ भाषण देकर समाज को भाषा के आधार पर बांटने का आरोप था। शिवाजी पार्क स्थित निवास स्थान पर राज की गिरफ्तारी के बाद मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र में िहसक वारदातें होने लगीं। विक्रोली कोर्ट के बाहर भी राज के समर्थकों ने प्रदर्शन और नारेबाजी की। उनके समर्थकों के हिंसक हमले में नासिक में एक निजी कंपनी एचएएल के एक मराठी कर्मचारी अंबादास हरिभाऊ धरराव (55) की पत्थरबाजी से मौत हो गई। पुणे, कोल्हापुर, नासिक, परभणी, कल्याण से दर्जनों सरकारी बसों पर पथराव और आगजनी की घटनाओं की जानकारी मिली है। मुंबई के भी कई इलाकों में दहशत है और दुकानें बंद करा दी गई। मुंबई के दादर, चेंबूर, बोरिवली, गोरेगांव, कांदिवली, जोगेश्वरी, दहिसर, भाईंदर, मलाड, वरली में भी उपद्रव से तनाव कायम है। चेंबूर में एक स्कूलबस पर हमला किया गया लेकिन उस पर सवार बच्चों की जान बच गई। ठाणे और कल्याण में भी िहसक वारदातें की खबरें हैं।ड्ढr ड्ढr मुंबई में अप्रिय घटनाओं के घटने के डर से सरकारी और गैरसरकारी दफ्तरों में काम करने वाले लोग जल्दी ही घर लौट गए। मुंबई के कई निजी स्कूलों में छुट्टी दे दी गई और आम दिनों की अपेक्षा लोकल ट्रेनों में भी यात्रियों की भीड़ कम देखी गई। मुंबई में गड़बड़ी फैलाने के आरोप में 150 मनसे कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है। पुणे में 50 और नासिक से पार्टी के महासचिव वसंत गीते को पुलिस ने हिरासत में लिया है। औरंगाबाद में स्व. प्रमोद महाजन के भाई प्रकाश महाजन समेत आठ मनसे कार्यकर्ताआें को गिरफ्तार किया गया। दूसरी आेर विक्रोली अदालत से जमानत पर रिहा होने के बाद राज ने अपने दर्जनों समर्थकों को शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे के अंदाज में हाथ हिलाकर अभिवादन किया और चेहरे पर एक जीती हुई जंग की खुशी जाहिर करते हुए अपनी पत्नी शर्मिला ठाकरे के साथ गाड़ी पर सवार होकर घर रवाना हो गए। सरकारी वकील की दलील सुनने के बाद और राज की तरफ से जमानत की अपील नहीं करने से विक्रोली अदालत ने उन्हें 25 फरवरी तक न्यायिक हिरासत में भेजे जाने का फैसला सुनाया। लेकिन इस फैसले के तुरंत बाद राज ने जमानत की अर्जी दी और अदालत ने उन्हें 15 हजार रुपए के निजी मुचलके पर रिहा कर दिया। उधर सपा नेता आजमी को भी भोईवाड़ा अदालत में पेश किया गया था और उन्हें भी 10 हजार रुपए के निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। आजमी ने जमानत पर रिहा होने के बाद अदालत परिसर में ही पुलिस की मौजूदगी में मीडिया से कहा कि वह किसी को परेशान करना नहीं चाहते हैं और इस मामले में वह पुलिस की मदद करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि भड़काऊ भाषण पहले राज ने दी थी और उन्होंने उत्तर भारतीयों के बचाव में लाठी की बात की थी। राज के खिलाफ विक्रोली पुलिस स्टेशन में और आजमी के खिलाफ शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया था। इन दोनों के खिलाफ भादंवि की धारा 117, 153 (अ) और 153 (ब) के तहत गैरजमानती मामला दर्ज कराया गया था।ड्ढr ड्ढr इस बीच महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री आर.आर. पाटिल ने कहा है कि दोनों नेताओं के खिलाफ पुलिस के पास पुख्ता सबूत हैं और राज्य में हिंसा करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। पाटिल ने कहा कि ठाकरे और आजमी पर प्रेस कांफ्रेंस या रैलियां आदि आयोजित करने पर प्रतिबंध 25 मार्च तक जारी रहेगा और उसके बाद उनका रवैया देखते हुए तय किया जाएगा कि प्रतिबंध हटाया जाए या नहीं। मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख ने दोनों नेताओं की गिरफ्तारी पर कहा कि इससे साबित होता है कि हम शांति व्यवस्था को चुनौती देने वालों को बख्शेंगे नहीं। मुम्बई और अन्य जगहों पर केन्द्रीय अर्धसैनिक बलों की मदद से उत्पातियों को गिरफ्तार भी किया जा रहा है। उधर महाराष्ट्र में उत्तर भारतीयों पर हमले के मामले में केन्द्र सरकार ने राज्य को कड़े कदम उठाने को कहा है। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से संपर्क कायम किया हुआ है।ड्ढr ड्ढr वहीं गृह मंत्री शिवराज पाटिल ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर राज्य की स्थिति पर चर्चा की। ठाकरे की गिरफ्तारी की संभावना बुधवार सुबह से ही बन गई थी। इसके बाद मुम्बई बाहरी इलाकोंे, ठाणे और नासिक में हिंसा की घटनाएं हुईं। कई वाहन फूंके गए और बसों को मनसे कार्यकर्ताओं ने निशाना बनाया। राज्य के अलग-अलग हिस्से में बढ़ रहे तनाव को देखते हुए गृहमंत्री और मुख्यमंत्री अपना दौरा बीच में ही रद्द कर मुंबई वापस लौट गए थे और राज्य के आला अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा कर रहे थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राज की गिरफ्तारी का खेल-घंटों में बेल