DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी में बिजली की आंखमिचौनी

राजधानी समेत पूरे सूबे में गुरुवार को भी बिजली संकट कायम रही। बरौनी में उत्पादन की लुकाछिपी चल रही है। बुधवार की देर रात में ही यहां उत्पादन फिर बैठ गया। कांटी में भी अबतक उत्पादन शुरू नहीं हो सका है। फरक्का में गुरुवार को कम उत्पादन होने के चलते सेंट्रल सेक्टर से भी कम बिजली यानी 725 मेगावाट ही मिली जिसमें पटना को बिहटा समेत 20 मेगावाट बिजली दी गयी। इस वजह से यूआई चार्ज देकर करीब 50 से 60 मेगावाट बिजली खरीदी गयी। जरूरत से कम बिजली मिलने से राजधानी समेत सूबे के तमाम हिस्सों में शिफ्टवार कटौती कर बिजली की आपूर्ति की गयी। विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि बरौनी व कांटी दोनों लाइटअप है। शुक्रवार से उत्पादन शुरू होने की संभावना है।ड्ढr ड्ढr पछुआ के चलते कनकनी से निजात नहींड्ढr पटना (का.सं.)। मौसम में उतार-चढ़ाव का दौर खत्म नहीं हो रहा है। कभी पारा अप तो कभी डाउन। सर्द हवा परेशान किए हुए है। खासकर सुबह में तेज पछुआ हवा से लोगों की हालत पतली हो जाती है। स्कूल जाने वाले नन्हे-नन्हे बच्चे ठंड से सिकुड़ते हुए क्लासस में पहुंच रहे हैं। इधर गुरुवार को पारा 7 डि.से. पर लढ़क गया। अधिकतम तापमान 22 डि.से. दर्ज हुआ है। कश्मीर से आ रही शुष्क सर्द हवा से राजधानी समेत पूरे सूबे में लोग कपकपा रहे हैं। पछुआ के चलते कनकनी से निजात भी नहीं मिल पा रही है। हवा में नमी की मात्रा कम रहने से ठंड में कमी नहीं हो पा रही है। गुरुवार की सुबह में हवा में नमी की मात्रा 62 फीसदी तो शाम में 35 फीसदी दर्ज हुई। बकौल मौसम विज्ञान केन्द्र अगले चौबीस घंटे में भी मौसम का हाल लगभग यही रहेगा। शुक्रवार को पारा डि.से. रहेगा। आसमान साफ रहने से धूप खिलेगी।ड्ढr ड्ढr मोटरसाइकिल सवार जख्मीड्ढr पटना (का.सं.)। गुरुवार की देर रात बेली रोड में हाईकोर्ट के पास राष्ट्रपति के आगमन को लेकर सड़क पर गिराए गये बांस-बल्ली से टकराकर एक मोटरसाइकिल सवार बुरी तरह दुर्घटनाग्रस्त हो गया। उसका सिर फट गया। हालांकि मोटर साइकिल पर पीछे बैठा युवक चोटिल होने से बच गया। घायल सुरेन्द्र को इलाज के लिए पीएमसीएच इमरजेंसी पहुंचाया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राजधानी में बिजली की आंखमिचौनी