DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सामान्य वर्ग के 50 हजार पद भरे जाएँगे

मुख्यमंत्री मायावती ने कहा है कि सामान्य वर्ग की (लोक सेवा आयोग के दायरे से बाहर सीधी भर्ती की समूह-ग और घ कर्मियों की) भर्ती पर लगी रोक सरकार ने हटा ली है। रोक हटने से सामान्य वर्ग की भर्तियाँ भी जल्द शुरू हो जाएँगी। इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया गया है। सूबे के विभिन्न विभागों में सभी वर्गो के एक लाख से अधिक पद रिक्त हैं जिनमें करीब 50 हजार पद सामान्य वर्ग के हैं। आरक्षित पदों पर भर्तियाँ पहले से ही चालू हैं। लोक सेवा आयोग के दायरे में आने वाले सामान्य वर्ग के विभिन्न पदों तथा शिक्षक संवर्ग के पदों पर भर्ती खुली हुई थी। समूह-ग और घ कर्मियों के खाली पदों की भर्ती पर रोक थी। जिसे हटा लिया गया है।ड्ढr यह जानकारी मुख्यमंत्री ने शुक्रवार को विधानसभा में दी। उन्होंने राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए नेता विपक्ष के इस आरोप को गलत बताया कि प्रदेश में केवल आरक्षित वर्ग की भर्ती हो रही है। मायावती ने कहा कि सामान्य वर्ग की भर्ती पर रोक तो पिछली सरकार में ही 12 दिसम्बर 2006 को लगा दी गई थी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने आरक्षण का कोटा भी सेवा में काफी हद तक पूरा कर दिया है। केन्द्र सरकार से भी आरक्षण कोटा पूरा करने के लिए प्रधानमंत्री को पत्र भेजा है।ड्ढr अधिकारियों से जबरदस्ती लिखवा लेने के नेता विपक्ष के आरोप पर मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्य सचिव, डीजीपी, एडीजी कानून-व्यवस्था और लखनऊ मंडल के कमिश्नर सबसे ईमानदार अफसरों में हैं। इनसे जबरदस्ती कुछ नहीं लिखवाया जा सकता। मायावती ने कहा कि इन अफसरों ने पूरी निष्ठा से पुलिस भर्ती घोटाले व अन्य घोटालों का खुलासा किया है, जबकि सपा सरकार में अफसरों पर दबाव डालकर गलत काम कराए गए। यह साक्ष्य बसपा सरकार के रिकॉर्ड में आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव कमेटी की जाँच रिपोर्ट में इंगित है कि पुलिस भर्ती घोटाले में एक बड़े राजनेता पर धन उगाही का प्रथमदृष्टया आरोप साबित हो गया है। उन्होंने कहा कि नेता विपक्ष ने कहा है कि सरकार को पुलिस पर भरोसा नहीं है, इसलिए सीबीआई जाँच करा रही है। मुख्यमंत्री ने सवाल उठाया कि नेता विपक्ष को सीबीआई जाँच से घबराहट क्यों है?ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सामान्य वर्ग के 50 हजार पद भरे जाएँगे