अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुंगेर में इंटर की परीक्षा में उपद्रव, पथराव, तोड़फोड़

इंटर की परीक्षा में नकल पर सख्ती से रोक से आक्रोशित परीक्षार्थियों ने शुक्रवार को सूबे में कई जगह तोड़फोड़ व हंगामा किया। मुंगेर में परीक्षार्थियों ने डीएवी विद्यालय, बीआरएम महाविद्यालय एवं एमडब्ल्यू उच्च विद्यालय में जमकर उत्पात मचाया। पथराव कर रहे परीक्षार्थियों ने विद्यालय के वाहनों को भी निशाना बनाया और बीआरएम महाविद्यालय के डेस्क एवं बेंच को क्षतिग्रस्त कर दिया। पथराव में एक पुलिस पदाधिकारी सहित कुछ स्थानीय लोगों को भी चोटें आई हैं।ड्ढr ड्ढr दूसरे दिन कदाचार करते पटना में पांच समेत राज्य भर में लगभग 333 विद्यार्थियों को निष्कासित किया गया। सबसे अधिक 148 विद्यार्थियों को सहरसा में पकड़ा गया। सहरसा में कई केंद्रों पर अभिभावकों पर पुलिस के डंडे चले। नवादा में कदाचार की सूचना अखबार से मिलते ही समिति की उड़नदस्ता टीम वहां पहुंची और विभिन्न केंद्रों का निरीक्षण किया गया। मुजफ्फरपुर के बीबी कॉलेजिएट केंद्र पर कुछ विद्यार्थियों को वीक्षकों द्वारा सहूलियत देने की शिकायत की गयी। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के सचिव अनुप कुमार सिन्हा ने बताया कि मुंगेर की घटना से हमें सबक मिला है और हम परीक्षा को सही ढंग से संचालित कराएंगे। परीक्षा का बहिष्कार करने वालों को समिति ने दंडित करने का निर्णय लिया है। सिन्हा ने बताया कि मुंगेर में परीक्षा का बहिष्कार करनेवालों को दंडित किया जाएगा। क्षति का आकलन किया जाएगा और संबंधित केन्द्र के परीक्षार्थियों से इसकी वसूली की जाएगी। साथ ही उन्होंने परीक्षा रद्द करने से इंकार करते हुए इस पत्र में सभी छात्रों को शून्य अंक देने की घोषणा की। उन्होंने बताया कि वहां के दो केंद्रों डीएवी स्कूल में लगभग 600 व बीआरएम कॉलेज में लगभग 300 विद्यार्थियों ने प्रथम पाली में गणित की परीक्षा के दौरान छूट देने की मांग केंद्राधीक्षक द्वारा नहीं माने जाने पर हंगामा किया व परीक्षा का बहिष्कार कर दिया।ड्ढr ड्ढr उन्होंने बताया कि मुजफ्फरपुर से 22, लखीसराय से 1गया से 12, आरा से 14, जहानाबाद से पांच, बांका से नौ, मधेपुरा से तीन, अरवल से एक, औरंगाबाद से एक, शिवहर से पांच, मोतिहारी से 1सारण से तीन, सीवान से चार, सुपौल से तीन, कटिहार से 13, जमूई चार, बेगूसराय से दो, नवादा से 12, पटना में पांच समेत लगभग 230 विद्यार्थियों को कदाचार करते पकड़ा गया। वहीं छपरा शहर के तीन परीक्षा केन्द्रों पर भारी कदाचार के मद्देनजर डीएम ने 15 फरवरी की पहली पाली की परीक्षा को रद्द करने की अनुशंसा बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से की है। तीनों केन्द्रों के केन्द्राधीक्षकों और वीक्षकों को तत्काल हटाकर नये केन्द्राधीक्षक और वीक्षक तैनात करने का निर्देश डीईआे सेलेस्टिन हांसदा को दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुंगेर में इंटर की परीक्षा में उपद्रव, पथराव, तोड़फोड़