अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सपना साकार-पानी में चलेगी कार

रीब 30 साल पहले जब जेम्स बांड की फिल्म ‘द स्पाई हू लव्ड मी’ आई थी तब दुनिया भर में दर्शकों को बांड की पानी में चलने वाली कार भा गई थी। तब स्विटजरलैंड का एक इंजीनियर भी इससे काफी प्रभावित हुआ था और तभी से उसके दिमाग में इसे बनाने की सनक सवार हो गई थी। लंबे प्रयास और अथक मेहनत की बदौलत कार डिजाइनर फ्रैंक रिंडरनेट ने आखिरकार अपने सपनो को साकार कर ही लिया। और सपनो की यह कार बन गई यानि एक ऐसी कार जो जमीन के साथ-साथ पानी पर भी चल सकती है।ड्ढr ड्ढr फ्रैंक ने इसे स्क्यूबा का नाम दिया है। करीब 1 मिलियन यूरो यानि करीब साढ़े सात करोड़ की यह कार पानी में उतनी ही आसानी से चल सकती है जितनी आसानी से जमीन पर। इसे अगले महीने जिनेवा मोटर शो में प्रदर्शित किया जाएगा। डिजाइनर के अनुसार, यह कार पानी में 30 फीट की गहराई तक गोता लगा सकती है। जमीन पर इसकी रफ्तार 75 मील प्रति घंटा होगी तोपानी में यह 2 मील प्रति घंटा की रफ्तार से चलेगी। कार में सीट के नीचे ऑक्सीजन के सिलेंडर लगे होंगे जिसकी सहायता से कार में बैठे व्यक्ित सांस ले सकेंगे। हालांकि यह कार पानी के अंदर करीब दो घंटे तक ही रह सकती है। कार में पेट्रोल इंजन की जगह तीन इलेक्िट्रक मोटर का प्रयोग किया गया है। इसमें से एक मोटर रेयर व्हील को पावर देगी और दो उसके प्रोपलर को पावर पहुंचाएगी।ड्ढr ड्ढr यही नहीं कार में लिथियम ऑयन बैटरी का प्रयोग किया गया है जिसे चार्ज किया जा सकता है। फ्रैंक के अनुसार, जब कार पानी में जाएगी तो पानी के दवाब के कारण इसके दरवाजे स्वत: बंद हो जाएंगे। पानी में कार के अंदर बैठे लोग कंप्रेस्ड हवा से सांस ले सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सपना साकार-पानी में चलेगी कार