DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राहत के लिए ग्रामीणों ने बीडीआे को बंधक बनाया

बाढ़ राहत के खाद्यान्न एवं राशि की मांग को लेकर शुक्रवार को आक्रोशित ग्रामीणों ने बराही पंचायत के बराही टोला में बीडीआे संजीव कुमार सिन्हा को चार घंटे तक बंधक बनाये रखा। इस दौरान उनके साथ धक्का मुक्की भी की गयी। बाद में कुछ लोगों ने बीडीआे को सुरक्षित एक कमरे में पहुंचाया। लेकिन, आक्रोशित ग्रामीण वहां घेरा डाले रहे। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए जिला प्रशासन को सूचित किया गया।ड्ढr ड्ढr मौके पर एसडीआे नूरे आलम एवं एसडीआे विनोद कुमार पहुंचे तो नाराज लोगों ने मुखिया व बीडीआे के खिलाफ नारेबाजी करते हुए कार्रवाई की मांग की। ग्रामीणों का आरोप था कि मुखिया, बीडीआे तथा बिचौलियों द्वारा वार्ड 14 एवं 15 में राहत वितरण में भेदभाव बरता गया है तथा राहत की मांग करने गए ग्रामीणों के साथ गाली-गलौज करते हुए मारपीट की धमकी दी गयी। अनुमंडलाधिकारी द्वारा दस दिनों के अंदर वंचितों के बीच शेष अनाज एवं राशि के वितरण करने का आश्वासन देने तथा मुखिया के विरूद्ध सख्त कानूनी कार्रवाई करने के बाद मामला शांत हुआ और बीडीआे को सकुशल मुक्त कराया गया। परंतु ग्रामीण इस जिद पर अड़े थे कि जब तक राशन उपलब्ध नहीं कराया जाता है तब तक पोलियो अभियान प्रारंभ नहीं करने दिया जायेगा।ड्ढr ड्ढr उल्लेखनीय है कि उक्त दोनों वाडरे में कुल 243 में 153 लोगों के बीच मात्र 25 किलो अनाज दिया जा सका है। उपलब्ध कराये गये अनाज का वाउचर भी नहीं दिया जा सका है। यह भी आरोप है कि मृत लोगों के नाम पर भी जाली दस्तखत करके अनाज का वितरण दिखाया गया है। इसके विरोध में इन वाडरे के लोग पोलियो अभियान का बहिष्कार कर दिया था। इन लोगों को समझाने बुझाने के लिए सुबह बीडीआे श्री सिन्हा अंचलकर्मियों के साथ बराही टोला में पहुंचे थे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: राहत के लिए ग्रामीणों ने बीडीआे को बंधक बनाया