DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अविकसित इलाकों को कांशीराम योजना से धन देने की तैयारी

राज्य सरकार ने शहरों के अविकसित इलाकों को मान्यवर कांशीराम समग्र विकास योजना से धन देकर विकसित करने की तैयारी की है। इस सम्बन्ध में राज्य सरकार ने करीब दो दर्जन नगर निकायों से तत्काल रिपोर्ट तलब की है।ड्ढr प्रमुख सचिव एसआर लाखा ने अम्बेडकर नगर,आजमगढ़, बहराइच, बलरामपुर, बांदा, बाराबंकी, बस्ती, बदायूँ, चंदौली, चित्रकूट, एटा, फरुखाबाद, फतेहपुर, गोंडा, गोरखपुर, हमीरपुर, हरदोई, जालौन, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर, ललितपुर, महराजगंज, महोबा, मिर्जापुर, प्रतापगढ़, रायबरेली, संतकबीर नगर, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, सीतापुर, सोनभद्र और उन्नाव के जिलाधिकारियों को एक प्रपत्र जारी करके कहाकि है कि पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि (बीआरजीएफ) के अंतर्गत त्रिस्तरीय पंचायती राज संस्थाआें द्वारा विकास योजनाआें को तैयार करते वक्त 20 प्रतिशत धनराशि में ऐसी योजनाआें को सम्मिलित किया जाए जो मान्यवर कांशीराम समग्र विकास क्षेत्र से सम्बन्धित हों, लेकिन उन्हें किसी दूसरे मद से वित्तीय सहायता न मिल रही हो। इस पत्र में कहा गया है कि चूंकि चालू वित्तीय वर्ष में वक्त बहुत कम रह गया है, इसलिए ऐसे क्षेत्रों का चयन कर उनके विकास का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट समेत तत्काल प्रमुख सचिव नगर विकास अथवा सचिव को भेज दें ताकि विकास कार्य तुरंत शुरू कराए जाने के बाबत निर्णय लिया जा सके।ड्ढr सपा का मुख्यमंत्री पर पलटवार राज्य मुख्यालय (विसं)। समाजवादी पार्टी ने मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली पूर्व प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री मायावती द्वारा विधानसभा और विधानसभा से बाहर आलोचना किए जाने की कड़ी निंदा की है। सपा के प्रदेश प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने शनिवार को एक बयान में आरोप लगाया कि बसपा सरकार रिश्वतखोरी और कमीशन की सरकार है। उन्होंने कहा कि बसपा अध्यक्ष को राजनीतिक इतिहास का अध्ययन करना चाहिए। मुलायम सिंह यादव का राजनीतिक जीवन पाँच दशक पुराना संघर्ष का इतिहास है। वह गरीबों व किसानों के सच्चे प्रतिनिधि हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अविकसित इलाकों को कांशीराम योजना से धन देने की तैयारी