अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में पीपीपी दफ्तर पर हमला ३८ की मौत

पाकिस्तान में चुनाव प्रचार के आखिरी दिन शनिवार को पश्चिमोत्तर सीमांत प्रांत में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के प्रत्याशी के दफ्तर के बाहर आत्मघाती हमले में कम से कम 38 लोगों की मौत हो गई और 100 से ज्यादा घायल हो गए। उधर, स्वात घाटी में हुए एक आत्मघाती हमले में तीन लोग मारे गए और 18 घायल हो गए। संदिग्ध आतंकियों ने शुक्रवार की रात तीन मतदान केंद्र भी बम धमाके से उड़ा दिए। पाकिस्तान में सोमवार को मतदान होना है।ड्ढr अधिकारियों ने बताया कि गड़बड़ी वाले खुर्रम इलाके के पाराचिनार में पीपीपी प्रत्याशी रियाज हुसैन शाह ने एक बाजार में दफ्तर बनाया था। एक फिदाईन विस्फोटकों से भरा वाहन लाया और इसमें धमाका कर दिया। इससे बाहर खड़े लोग मारे गए और घायल हुए। घायलों में से कई की हालत गंभीर है। अधिकारियों के मुताबिक एक रैली से लौट रहे पीपीपी प्रत्याशी और उनके कुछ साथी हमले में बाल-बाल बचे। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक हमले की जगह पर लोगों के शरीर के अंग दूर-दूर तक जाकर गिरे। पाराचिनार और स्वात में हमलों के बाद पाकिस्तान में सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है।ड्ढr दूसरी ओर, आतंकवादियों ने कबाइली इलाके खार में तीन मतदान केंद्रों पर शुक्रवार को धमाके किए, जिससे वहाँ चुनाव के लिए किए गए सारे इंतजाम ध्वस्त हो गए। हमलों की जिम्मेदारी किसी आतंकवादी संगठन ने नहीं ली है। इलाके की घेराबंदी करके हमलावरों की तलाश की जा रही है, लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं मिला है। चुनाव की दृष्टि से पश्चिमोत्तर पाक का कबाइली इलाका काफी संवेदनशील है। इस प्रांत में पिछले कुछ समय से प्रत्याशियों पर हमले की कई घटनाएँ हो चुकी हैं। पीपीपी की प्रमुख बेनजीर भुट्टो की पिछले साल 27 दिसम्बर को रावलपिंडी के लियाकत बाग में रैली के बाद बाहर आने पर हत्या कर दी गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक में पीपीपी दफ्तर पर हमला ३८ की मौत