अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर में हुई बिजली की शिफ्टवार कटौती

रक्का की एक इकाई में उत्पादन कम होने के चलते शनिवार को सेंट्रल सेक्टर से बिजली की कम आपूर्ति हुई। सेंट्रल सेक्टर से जरूरत से काफी कम 725 मेगावाट बिजली ही मिली। नतीजतन सूबे में बिजली संकट में कोई कमी नहीं आयी। राजधानी छोड़ सूबे के सभी क्षेत्रों में बिजली के दर्शन दुर्लभ रहे। बरौनी व कांटी में उत्पादन होने से लगभग सौ मेगावाट बिजली मिली।ड्ढr ड्ढr पेसू को बिहटा सहित लगभग 20 मेगावाट बिजली मिली। राजधानी में जरूरत लगभग 350 मेगावाट बिजली की होती है पर महज 255-260 मेगावाट बिजली लगातार मिल रही है। इसके चलते शाम के बाद लगभग सभी ग्रिडों से शिफ्टवार कटौती कर आपूर्ति की जा रही है। खासकर मीठापुर ग्रिड से जुड़े मोहल्लों में शाम से देर रात तक बिजली की आंखमिचौनी चली।विद्युत बोर्ड के प्रवक्ता एसके घोष ने बताया कि शनिवार को बरौनी से लगभग 60 व कांटी से 50 मेगावाट बिजली मिली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: शहर में हुई बिजली की शिफ्टवार कटौती