DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गावसकर बोले, मुनाफ की जगह नहीं बनती थी टीम में

अपनी बेबाक टिप्पणी के लिए जाने जाने वाले सुनील गावसकर मैदान पर मुनाफ पटेल के नजरिए से काफी नाराज नजर आए। उन्होंने तो यहां तक कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रविवार को खेले गए वनडे में उनकी टीम में जगह नहीं बनती थी। मुनाफ की फील्डिंग को लेकर गावसकर कुछ ज्यादा ही नाराज दिखे। इस पूर्व कप्तान ने कहा, एक गेंदबाज के रूप में उनसे मुझे कोई शिकायत नहीं है लेकिन न तो वे बैट से और न ही फील्डिंग से टीम के लिए कोई योगदान दे सकते हैं। ऐसी स्थिति में लेग स्पिनर पीयूष चावला या ऑलराउंडर प्रवीण कुमार का चौथे गेंदबाज के रूप में चुना जाना बेहतर होता। ये दोनों बैटिंग भी कर लेते हैं। गावसकर ने कहा, ‘अगर वह पहले तीन गेंदबाजों में होते तो बात और थी लेकिन चौथे गेंदबाज के रूप में उनका टीम में स्थान नहीं बनता। न तो वह बल्लेबाजी कर सकते हैं और न ही फील्डिंग में कोई योगदान दे सकते हैं। वनडे क्रिकेट में आपको कम से कम दो चीजों में तो अच्छा करना ही होगा।’ गावसकर ने कहा, ‘मैं उनके खिलाफ नहीं हूं। वह अच्छे गेंदबाज हैं। लेकिन मैदान पर उनका नजरिया मुझे कुछ ठीक नहीं लगा। मिडविकेट पर फील्डिंग करते हुए वह काफी थके नजर आए। हरभजन की गेंद पर माइकल क्लार्क ने शॉट खेला। जब तक मुनाफ गेंद तक पहुंचे बल्लेबाज तीन रन पूरे कर चुका था। ऐसा ही दो बार उनकी गेंदबाजी के दौरान भी देखने को मिले। जब फील्डर से थ्रो बॉलिंग एंड पर आया वे आसपास नहीं थे। इसमें एक बार तो जेम्स होप्स रनआउट होने के करीब थे। लेकिन कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने मुनाफ के चयन को सही ठहराया। उन्होंने कहा, ‘मुझे ऐसा गेंदबाज चाहिए था जो ज्यादा कुछ सोचे बिना फील्ड की पोजीशन के अनुरूप बॉलिंग करे।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुनाफ की जगह नहीं बनती थी टीम में : गावसकर