DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैटिंग से निराश टीम इंडिया के कप्तान धोनी

दुनिया के काफी मजबूत मानी जाने वाली बल्लेबाजी लाइन-अप के पूरी तरह से ध्वस्त होने से भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी वाकई बहुत निराश दिखे। ऑस्ट्रेलिया से 50 रन से शर्मनाक हार के बाद प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने इस हार के लिए पूरी तरह से बल्लेबाजों को दोषी ठहराते हुए कहा, ‘ये काफी जरूरी है कि बल्लेबाज अपने ऊपर और ज्यादा जिम्मेदारी लें। जब टीम पांच गेंदबाजों और एक कम बल्लेबाज के साथ खेल रही हो तो बल्लेबाजों को जिम्मेदारी समझ कर बेहद सावधानी से खेलना होगा। उन्हें एक-दूसरे का साथ देना होगा और इसका ध्यान रखना होगा कि बहुत शुरुआत में और जल्दी-जल्दी विकेट न गिरें।’ उन्होंने कहा, ‘खासतौर से इन परिस्थितियों में तो इसका खासा ध्यान रखना होगा कि बारहवें ओवर तक कोई विकेट न गवाएं क्योंकि उसके बाद तो कुकाबूरा गेंद मुलायम हो जाती है और बेट पर आसानी से आती है। वैसे भी इससे अनुभव होता है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में आपको अपना सवश्रेष्ठ प्रदर्शन करना होता है।’ उन्होंने अपने रन आउट को मैच का टर्निग प्वाइंट बताया। साथ ही उन्होंने इसके लिए रोहित शर्मा को दोषी ठहराया जो उनके लिए दौड़ रहे थे। उन्होंने कहा, ‘उन्होंने देर से एक्शन लिया। मैं तो पैर में क्रैम्प्स होने के बावजूद आसानी से क्रीज में पहुंच सकता था लेकिन वे नहीं पहुंच सके।’ धोनी ने पठान को बल्लेबाजी क्रम में ऊपर भेजने के फैसले का बचाव करते हुए कहा, ‘इससे आपकी बल्लेबाजी को ज्यादा गहराई मिलती है क्योंकि उसके बाद का क्रम बरकरार रहता है। पठान के बाद रोहित, युवी, मैं और सातवें नंबर पर उथप्पा। मैं इस क्रम से बहुत खुश और सतुष्ट हूं।’ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बैटिंग से निराश टीम इंडिया के कप्तान धोनी