अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आईपीएल की आस में रोचक होगा संघर्ष

माया नगरी में इस सप्ताह दो बड़े मैच होने हैं। वानखेड़े स्टेडियम में मंगलवार से उत्तर और पश्चिम क्षेत्र के बीच खेला जाएगा पांच दिवसीय दिलीप ट्रॉफी का फाइनल मैच।एक दिन बाद बुधवार को वानखेड़े से एक किलोमीटर की दूर हिल्टन होटल में खेला जाएगा इंडियन प्रीमियर लीग की आठ टीमों के लिए देश-विदेश के नामी खिलाड़ियों की बोली का लाखों डॉलर वाला अनूठा एकदिवसीय मैच। फाइनल में खेलने वाले बहुत से खिलाड़ी हैं जो ‘कहीं पे निगाहें, कहीं पे निशाना’ की तर्ज पर अपना ध्यान मैच में खेलते हुए हिल्टन में लगने वाली बोली पर लगाए हुए होंगे। उत्तर क्षेत्र के कप्तान मिथुन मन्हास ने कहा - जी, बिलकुल। मैं भी उम्मीद लगाए हुए हूं कि मुझे भी आईपीएल में खेलने का मौका मिले।फाइनल के लिए दोनों कप्तान विपक्षी टीमों को काफी सम्मान से देख रहे हैं। मन्हास और पार्थिव पटेल इस तथ्य को एक सुर में स्वीकारते हैं कि ये दो क्षेत्रों के बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों के बीच मुकाबला है, इसलिए मैच में रोचक संघर्ष देखने को मिलेगा। बीसीसीआई की पिच समिति के सदस्य पश्चिम क्षेत्र के धीरज परसाना ने पिच के संभावित रुख के बारे में तपाक से कहा - तेज गेंदबाजों को मजा आएगा। तेज गेंदबाजी और बेबाजी के मामले में दोनों ही टीमें मजबूत हैं। उत्तर क्षेत्र के पास वीआरवी सिंह, विक्रमजीत सिंह मलिक और अशोक ठाकुर के साथ जोगिंदर शर्मा के रूप में अच्छे तेज गेंदबाज हैं। बेबाजी में आकाश चोपड़ा, मिथुन मन्हास, शिखर धवन, रजत भाटिया, उदय कौल और यशपाल सिंह जैसे नामी और धुरंधर बेबाज हैं। वसीम जाफर और अजिनकेय रहाणे के पिछले मैच में शतक ठोकने से पश्चिम क्षेत्र का उत्साह बढ़ा हुआ है। कप्तान पार्थिव पटेल भी अच्छी फॉर्म में हैं। इसके अलावा साहिल कुकरेजा, तेजेश्वर पुजारा और यूसुफ पठान भी मौजूद हैं। तेज गेंदबाजी में सिद्धार्थ त्रिवेदी, संदीप जोबनपुत्र और अशरफ मकड़ा मौजूद हैं। अपने पिछले मैचों में उत्तर ने पूर्व क्षेत्र को और पश्चिम ने इंग्लैंड लायंस को रौंद कर रख दिया था। इससे इनके हौसले बुलंद हैं। उत्तर क्षेत्र की टीम मौजूदा चैंपियन है और उसकी टीम में दिी के पांच खिलाड़ी हैं जो यहां पर कुछ ही समय पहले उत्तर प्रदेश को हरा रणजी चैंपियन बने थे। मन्हास ने कहा - हम रणजी फाइनल में यहां अच्छा खेले थे और फिर से यहां चैंपियन बनना चाहेंगे। दोनों टीमें बेबाजी और गेंदबाजी में अच्छी संतुलित हैं और मैच के दौरान कौन कैसा खेलता है नतीजा इसी पर निर्भर करेगा। पार्थिव ने कहा कि हमारी टीम में ऐसी टीमों के खिलाड़ी हैं जिन्होंने रणजी में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। सौराष्ट्र और बड़ौदा सेमीफाइनल खेलीं और गुजरात की टीम प्लेट डिवीजन की चैंपियन बनी। मुंबई के खिलाड़ी तो बेहतरीन हैं ही। पार्थिव ने कहा कि दिलीप ट्रॉफी का फाइनल हमेशा ही टफ रहता है, क्योंकि इसमें देश के श्रेष्ठ खिलाड़ी खेल रहे होते हैं। आप देखेंगे कि इस मैच में भी खेल की पलिटी का स्तर बहुत ऊंचा होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आईपीएल की आस में रोचक होगा संघर्ष